पूर्व सीएम राजे और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया अलग-अलग राह पर, राजे कल से यात्रा पर

File Photo - Vasundhra Raje & Dr.sathish Poonia

जयपुर। भाजपा कार्यसमिति की बैठक में हाथों से हाथ पकड़ कर सियासी हलकों में एकजुटता का संदेश देने वाली पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने अब अलग-अलग राह पकड़ ली है। पूर्व मुख्यमंत्री राजे जहां 7 और 8 मार्च को धार्मिक यात्रा पर रहेंगी, वहीं पूनियां 6, 7 और 8 मार्च को उदयपुर, प्रतापगढ़ एवं बांसवाड़ा जिलों में सियासी प्रवास के लिए निकल गए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सात मार्च को सुबह साढ़े 9 बजे हेलीकॉप्टर से पूंछरी स्थित हेलीपैड पहुंचेंगी। सुबह साढ़े 10 बजे पूंछरी का लौठा दर्शन के साथ श्रीनाथ जी मंदिर में पूजन करेंगी। फिर साढ़े 11 बजे वे जतीपुरा के दानघाटी मंदिर में दुग्धाभिषेक के बाद सुबह 11.40 बजे गोवर्धन स्थित गिर्राज जी दानघाटी मंदिर पहुंचेंगी और पूजा करेंगी। राजे सडक़ मार्ग से आदिबद्री के लिए रवाना होंगी। डीग में लक्ष्मण मंदिर दर्शन करते हुए उनका रात्रि विश्राम आदि बद्री में ही करने का कार्यक्रम है। आदिबद्री में रात्रि को ब्रज ब्रजलोक कला मंच की ओर से रासलीला कार्यक्रम भी होगा। इसी तरह 8 मार्च को वे सुबह 5 बजे आदिबद्री नाथ मंदिर में मंगला आरती में शामिल होंगी। इसके बाद दोपहर साढ़े 12 बजे केदारनाथ मंदिर जाएंगी और पूजा-दर्शन एवं भोजन के बाद दोपहर साढ़े 3 बजे हेलीकॉप्टर से धौलपुर रवाना हो जाएंगी। राजे के कार्यक्रम की कमान पूर्व मंत्री युनूस खान, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी सहित भरतपुर के कई नेताओं ने संभाल रखी हैं।

पूनियां भी करेंगे त्रिपुर सुंदरी के दर्शन

प्रदेशाध्यक्ष पूनियां 6 मार्च को वल्लभनगर (उदयपुर) में संगठन के प्रमुख कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे और दोपहर 12 बजे युवा मोर्चा कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे। इसके बाद शाम 4 बजे कपासन में नगर पालिकाध्यक्ष के पदभार ग्रहण कार्यक्रम को सम्बोधित करेंगे एवं रात्रि विश्राम प्रतापगढ़ में करेंगे। सात मार्च को पूनियां नगर परिषद प्रतापगढ़ के नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों के सम्मान समारोह को सम्बोधित करेंगे। इसके बाद दोपहर 12.30 बजे घाटोल में कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों से संवाद करेंगे। पूनियां दोपहर 3 बजे बांसवाड़ा में त्रिपुर सुन्दरी माताजी मन्दिर में पूजा-अर्चना करेंगे। इसके बाद दोपहर 3.30 बजे बांसवाड़ा में कार्यकर्ताओं के साथ चाय पर चर्चा करेंगे और रात्रि विश्राम उदयपुर में करेंगे। आठ मार्च को पूनियां उदयपुर से जयपुर पहुंचेंगे।

धार्मिक यात्रा के निकाले जा रहे सियासी मायने

पूर्व मुख्यमंत्री की दो दिवसीय धार्मिक यात्रा को उनका निजी कार्यक्रम बताया जा रहा है, लेकिन राजनीतिक हलकों में इस यात्रा के कई मायने निकाले जा रहे हैं। राजे की धार्मिक यात्रा को देखते हुए कई नेताओं ने भरतपुर में कैम्प कर रखा है। पूर्व मंत्री यूनुस खान, पूर्व मंत्री बाबूलाल वर्मा, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, पूर्व विधायक अनीता सिंह सहित कई नेता व्यवस्था संभाले हुए हैं। जिला कलेक्टर नथमल डिडेल, पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार विश्नोई, एएसपी बुगलाल मीणा, उपखंड अधिकारी हेमंत कुमार सहित अन्य पुलिस-प्रशासन के अधिकारी भी पूंछरी हेलीपैड और ब्रज चौरासी कोस परिक्रमा मार्ग आदिबद्री-केदारनाथ तक व्यवस्थाओं को संभाल रहे हैं।