पुलिस अब जुटाएगी पूरे 15 मिनट के फुटेज, उसके बाद होगा चालान

पत्रकार व उसकी पत्नी के साथ टोलकर्मियोें ने मारपीट कर महिला की अंगुलियों को काटा

जनप्रतिनिधियों से भी मिलने लगे आश्वासन

— पत्रकार दम्पति के साथ टोल टैक्स पर धारदार हथियार से अंगुली काटना, मारपीट और छेड़छाड़ का मामला

चौमूं। एनएच 52 स्थित टाटियावास टोल टैक्स पर पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों की ओर से धारदार हथियार से अंगुली काटना, मारपीट और छेड़छाड़ के मामले को लेकर पुलिस पूरे पन्द्र​ह मिनट के फुटेजों को देखेगी।

उसके बाद ही कार्रवाई की जाएगी। इधर अब जनप्रनिधियों से लेकर आमजन पीड़ित से मिलने व फोन पर कुशलक्षेम पूछने को लगे हुए हैं। पीड़ित पक्ष से गुरुवार को एसीपी चौमूं राजेन्द्र सिंह निवार्ण से गुहार लगाई है कि पुलिस पूरे फुटजे को देखे उसके बाद ही चालान पेश किया जाएगा।

पीड़ित पत्रकार कन्हैयालाल कुमावत व उनकी पत्नी कांता कुमावत ने बताया कि उन्होंने एसीपी चौमूं राजेन्द्र सिंह निवार्ण से मुलाकात की और फुटेज को लेकर चर्चा की। साथ ही घटना का पूरे समय का विवरण प्रस्तुत किया।

उन्होंने पुलिस को बताया कि उनके पास भी कुछ फुटेज है जो ये प्रमाणित करते हैं कि उनके व पत्नी साथ टोलकर्मियों ने मारपीट की। इस पर एसीपी निवार्ण से पूरा भरोसा दिलवाया कि वे वापस से पूरे फुटेज को देखेंगे उसके बाद ही चालान पेश होगा।

उल्लेखनीय है कि मामले को लेकर पुलिस ने मात्र एक मुडिक बसेड़ी धोलपुर निवासी टोलकर्मी अनूप शर्मा को शांति भंग में गिरफ्तार किया, जिसे बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया था। 

ये हैं मामला

एनएच 52 स्थित टाटियांवास टोल प्लाजा तैनात कर्मचारियों ने पत्रकार कन्हैयालाल कुमावत व उसकी पत्नी कांता कुमावत के साथ मारपीट कर महिला की धारदार हथियार से अंगुलियां काटी दी गई थी।

टोलकर्मियों ने महिला के साथ छेड़छाड़ व अभद्रता भी की। जब पत्रकार ने इसका विरोध किया तो 10—15 टोलकर्मियों ने उसकी भी धुलाई कर दी। इस मामले को लेकर बदनपुरा चौक चौमूं निवासी पत्रकार कन्हैयालाल कुमावत ने चौमूं थाने में मामला दर्ज करवाया था।

कम्पनी का ठेका हो निरस्त, पत्रकार चला रहे कैम्पेन

मामले को लेकर अब पत्रकार संगठन संगठित हो रहे हैं। प्रेस क्लब संस्था चौमूं के अध्यक्ष जितेन्द्र रांगेय ने बताया कि मामले को लेकर ट्विटर, फेसबुक, वाट्सऐप व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से न्याय के लिए कैम्पेन चलाया जा रहा है।

साथ ही केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मांग की गई है कि वे मामले एक्शन ले और कम्पनी के ठेके को जल्द से जल्द निरस्त करें।

इनका कहना है 

पुलिस ने पहले कुछ मिनट के फुटेज लिए थे। एक बार फिर से पूरी घटना के फुटेज पर गौर किया गया जाएगा। उसके बाद ही पुलिस चालान काटेगी। 

राजेन्द्र सिंह निवार्ण, एसीपी चौमूं।

मामले को लेकर पुलिस के पास अब पूरे फुटेज आ गए हैं। मामले में कोई भी कोताही नहीं बरती जाएगी। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी। पीड़ित को न्याय मिलेगा। पुलिस 164 के बयान को भी आधार बनाएगी।

विक्रांत शर्मा, थाना प्रभारी चौमूं

पीड़ित पत्रकार से मैं मिला और मामले को लेकर पूरी जानकारी ली गई है। मेरी एसएचओ चौमूं से फोन पर बात हो गई है। उन्हें मामले में गंभीरता बरतने के लिए कहा गया है। पीड़ित को पूरा न्याय मिलेगा। रामलाल शर्मा, विधायक चौमू।

पीड़ित दम्पति से मिलकर मामले की पूरी जानकारी ली गई है। इसके बाद एसीपी चौमूं निवार्ण से बात की गई है। उन्हें कहा गया है कि घटना के पूरे फुटेज जुटाए उसके बाद ही कोई कार्रवाई करें।

भगवान सहाय सैनी, पूर्व विधायक चौमूं।  

टोलकर्मियों की ओर से एक महिला के साथ जो धारदार हथियार से अंगुली काटना, मारपीट और छेड़छाड़ की गई है वो निन्दनीय है। मामले को लेकर उच्चाधिकारियों से चर्चा की गई है। पीड़ित को न्याय मिलना ही चाहिए।

रुक्क्षमणी कुमारी, प्रदेश अध्यक्ष, ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस