जयपुर

पुलिस ने रिटायर्ड बैंक अधिकारी के घर से हुई लूट का खुलासा किया

जयपुर। शिप्रा पथ थाना इलाके में तीन माह पूर्व बिना पुलिस सत्यापन के घर के काम-काज के लिए रखी नौकरानी ने ही रिटायर्ड बैंक अधिकारी केके गुप्ता के परिवार को बंधक बना कर पन्द्रह लाख की लूट की थी।

जिला पुलिस ने सोमवार को गाजियाबाद यूपी से सरगना रईस ,नौकरानी समेत तीन को गिरफ्तार कर कार व नकदी बरामद की है। तीन सौ ग्राम सोना व सात किलो चांदी लेकर उनका एक साथी अब भी फरार है।
डीसीपी साउॅथ विकास पाठक ने बताया कि शिप्रापथ स्थित 10-बी निवासी केके गुप्ता के घर हुई लूटपाट मामले में मुख्य सूत्रधार उनकी नौकरानी, प्रिया साहू उर्फ परवीन खातून थी।

उसने अपने साथी रईस व अन्य दो के साथ मिल कर पहले चार माह तक रैकी की। उसके बाद 19 जुलाई की रात नौकरानी की मदद से घर में दाखिल हुए और गुप्ता, उसकी पत्नी व पोती को बंधक बना कर पन्द्रह लाख के जेवरात व ढाई लाख रुपए समेट कर गुप्ता की कार से ही फरार हो गए थे।

पुलिस जांच में कार के नंबर व लूट के ले जाए गए मोबाइल की लोकेशन के आधार पर पुलिस दल ने गाजियाबाद से तीन लोगो को गिरफ्तार किया है। इनका एक साथी लूट का सोना व नकदी लेकर फरार हो गया उसकी तलाश की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि तलाकशुदा परवीन खातून कलकत्ता की रहने वाली है।

एक पुराने मोबाइल खरीदने के बाद उसमें मिले नंबर से रईस से दोस्ती हुई। उसके बाद काम की तलाश में एजेंसी के मार्फत जयपुर गुप्ता के घर आ गई। यहां आने के बाद गुप्ता परिवार के पास संपति होने की आंशका में वृद्व दंपति को देख कर उसके दिमाक में लूट की योजना बनी। उसके बाद उसने रईस व उसके साथियों के साथ मिल कर वारदात कर दी।

वारदात का तरीका:

आरोपित परवीन खातून फर्जी आईडी बनाकर प्रिया साहू के नाम से घरो में नवजात शिशु की देखरेख का काम करती थी ।

जिसको मकान मालिक द्वारा जयपुर सर्वेन्ट सेन्टर के प्रोपराईटर फईम खान के मार्फत घर पर काम के लिए रखा था। जिससे एक अन्य आरोपित युवक द्वारा मोबाइ ल से बातचीत के जरिए दोस्ती गांठी तथा अपने बारे में पूरा बताया और उससे शादी का वादा किया ।

प्रिया से मिलने अपने साथियों के साथ जयपुरआया व उसको विश्वास दिलाने के लिए उसको अंगुठी पहनाकर गया व मकान की रेकी करके गया ।

जानकारी के अनुसार आरोपित युवक अकेला घर में आया व बाकी साथियों ने बाहर से कॉलोनी की रैकी व आने जाने के रास्तों की जानकारी लेते रहे। आरोपितों ने वारदात से पूर्व घर मे ंकौन-कौन है व कितने बजे कंहा कंहा सोते है तक की सारी जानकारी ली।

आरोपितों ने पूर्व नियोजित प्लानिंग के तहत रात्रि मेंकरीब 2 बजे प्रिया नियोजित प्लानिंग के अनुसार घर का मैनगेट खुला रखा।

आरोपितो ने घर में घुसकर मकान मालिक व उनकी पत्नि के हाथ-पांव बांधे और 9 माह की पोती को चाकू से जान से मारने का भय दिखाकर वारदात को अंजाम दिया ।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *