कोविड संक्रमण पर पीएम का मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद: ‘खतरा अभी टला नहीं, वैक्सीनेशन असली कवच’

PM's dialogue with Chief Ministers on covid infection 'The danger is not averted yet, vaccination is the real armor'

जयपुर। देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ने के बाद आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल संवाद किया और कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आपसी तालमेल बनाने पर जोर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अध्यक्षता में दोपहर 12 बजे शुरू हुई कोविड समीक्षा बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को आगाह करते हुए कहा कि देश में कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है।

PM's dialogue with Chief Ministers on covid infection 'The danger is not averted yet, vaccination is the real armor'

पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ जंग में वैक्सीनेशन को असली कवच बताते हुए वैक्सीनेशन अभियान पर जोर देने की अपील की। समीक्षा बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बीते 2 सालों में कोरोना को लेकर यह हमारी 24वी भी बैठक है। कोरोना काल में जिस तरह केंद्र और राज्यों ने मिलकर काम किया है और जिन्होंने कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई में अहम भूमिका निभाई है मैं उन सभी कोरोना वारियर की प्रशंसा करता हूं।

मुख्यमंत्री गहलोत मुंबई से वर्चुअल जुड़े

इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जहां मुंबई से समीक्षा बैठक में वर्चुअल जुड़े तो वही जयपुर से चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा और मुख्य सचिव उषा शर्मा सचिवालय से वर्चुअल जुड़े।

पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर पीएम ने कई राज्यों पर साधा निशाना

समीक्षा बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पेट्रोल डीजल की दरों पर वेट कम नहीं करने को लेकर भी कई राज्यों पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने हालांकि किसी राज्य का नाम नहीं लिया लेकिन इशारों इशारों में उन्होंने गैर बीजेपी शासित राज्य पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले साल नवंबर में केंद्र सरकार ने पेट्रोल डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाई थी और राज्यों से वेट कम करने को कहा था लेकिन कई राज्यों ने ऐसा नहीं किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं किसी की आलोचना नहीं कर रहा हूं बल्कि आपके राज्य की लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना कर रहा हूं। प्रधानमंत्री ने कुछ जगहोंके नाम गिनाते हुए कहा कि चेन्नई में पेट्रोल 111, जयपुर में 118,हैदराबाद में 119, कोलकाता में 115 और मुंबई में 120 रूपए प्रति लीटर से जैसे ज्यादा है। यह उन राज्यों के शहर है जिन्होंने रेट में कटौती नहीं की।

गहलोत ने कहा, कोविड प्रोटोकॉल की पालना शुरू होनी चाहिए

इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा कि ब्रिटेन,जर्मनी और चीन समेत तमाम देशों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। देश के कुछ हिस्सों में भी संक्रमण में बढ़ोतरी हुई है। कोविड संक्रमण संक्रमण में बढ़ोतरी को एक चेतावनी के तौर पर लेकर हम सबको कोविड प्रोटोकॉल की पालना शुरू कर देनी चाहिए।