Paper leak case - mastermind's wife, girlfriend, sister-in-law, brother arrested, fake degrees and mark sheets of several universities found
जयपुर राजस्थान

पेपर लीक मामला – मास्टरमाइंड की पत्नी, प्रेमिका,भाभी,भाई गिरफ्तार,कई विश्वविद्यालयों की फर्जी डिग्रियां व मार्क शीटे मिली

जयपुर/ उदयपुर/ वरिष्ठ शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में पुलिस को पूछताछ में लगातार कई जानकारियां मिलने के बाद चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं पुलिस ने अब मास्टरमाइंड की पत्नी उसकी प्रेमिका भाभी और भाई सहित कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है जिनसे की गई पूछताछ और जांच पड़ताल में कई यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्रियां और मार्कशीट है ।

बरामद होने के साथ ही इन्हें बेचने का खुलासा भी हुआ है तो वही जीएनएम पुलिस कांस्टेबल जैसी परीक्षा भर्ती परीक्षाओं के पेपर भी लीक करने के मामले में इस गिरोह के मास्टरमाइंड जितेंद्र सारण उसकी प्रेमिका और पत्नी भाई ,भाभी का हाथ सामने आया है। पुलिस मास्टरमाइंड सारण और उसके साथी ढाका की गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग टीमें बनाकर उनकी तलाश शुरू कर दी गई है।

वरिष्ठ शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले का मास्टरमाइंड भूपेंद्र सारण और सुरेश ढाका अभी फरार चल रहे हैं लेकिन पुलिस गिरफ्त में आए सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल सुरेश विश्नोई और डॉक्टर भगवान सहित अन्य लोगों से की गई ।

पूछताछ के बाद उदयपुर और जयपुर की एक संयुक्त पुलिस टीम ने कार्यवाही करते हुए जयपुर के मानसरोवर में स्थित गीतांजलि कॉलोनी में छापा मारकर गिरोह के मास्टरमाइंड भूपेंद्र सारण की प्रेमिका प्रियंका विश्नोई को गिरफ्तार किया ।

पुलिस ने प्रियंका बिश्नोई से जांच पड़ताल में विभिन्न यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्रियां मार्कशीट मिली इनमें 9 मार्कशीट श्रीनगर की इंस्टिट्यूट ऑफ़ एजुकेशन एंड वोकेशनल ट्रेनिंग की मिली तथा तीन मार्कशीट हिमालय यूनिवर्सिटी की मिली 8 मार्कशीट नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ फायर एंड सेफ्टी इंजीनियरिंग और 12 मार्कशीट ओपीजेएस यूनिवर्सिटी की मिली है।

प्रियंका ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि यह डिग्रियां और फर्जी मार्कशीट उसके प्रेमी भूपेंद्र सारण और उसका भाई गोपाल विश्नोई ने तैयार की है । प्रियंका ने स्वीकार किया कि भूपेंद्र के कहने पर उसने यह सभी मार्कशीट और डिग्रियां अपने पास रख रखी थी और भूपेंद्र की अनुसार ही ऐसे लोगों को रुपए लेकर भेजती थी।

इसी तरह पुलिस की टीम ने जयपुर में ही 200 फीट बाईपास पर स्थित भूपेंद्र सारण के मकान पर छापा मारकर उसकी पत्नी एलजी सारण को गिरफ्तार किया तो एक टीम ने करणी विहार और दूसरी टीम ने मानसरोवर थाना इलाके में भूपेंद्र सारण आवास पर सर्च किया इस दौरान दोनों ही घरों से पुलिस की टीम को बड़ी संख्या में फर्जी मार्कशीट में डिग्रियां बरामद हुई है ।

रजनी विहार हीरापुरा स्थित मकान के सर्च के दौरान पुलिस को ओपीजेएस यूनिवर्सिटी, सरदार पटेल विश्वविद्यालय, बालाघाट जेएस यूनिवर्सिटी, फिरोजाबाद सहित विभिन्न यूनिवर्सिटीयों की 18 से अधिक फर्जी मार्कशीट मिली है ।

पुलिस ने यहां से भूपेंद्र सारण के भाई गोपाल सारण उसकी पत्नी इंदू बाला तथा मोटाराम पुत्र पुरखाराम दिनेश कुमार कीचड़ पुत्र रमेश कुमार कीचड़ पुत्र भागीरथ विश्नोई को भी गिरफ्तार किया पुलिस भूपेंद्र सारण की प्रेमिका प्रियंका मोबाइल फोन की कॉल डिटेल के आधार पर भूपेंद्र कि गिरेबान तक पहुंचने का प्रयास कर रही है वही इस पेपर लीक प्रकरण में भी प्रियंका के शामिल होने की आशंका है।

उधर रिमांड पर चल रहे सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल सुरेश विश्नोई ने पुलिस पूछताछ में खुलासा किया कि उसका साथी भूपेंद्र सारण ही उनसे परीक्षा से पहले व्हाट्सएप पर पेपर भेजता था और इससे पहले भी लीक हुए पेपर भूपेंद्र नहीं उसे पहुंचाएं थे ।

भूपेंद्र सारण पहली बार 2011 में चर्चा में आया जब जीएनएम भर्ती परीक्षा का पेपर आउट हुआ था और तब उसकी गिरफ्तारी होने पर उसे रेलवे में नौकरी से निलंबित कर दिया था और जब तारीख के बाद वह जेल से बाहर गया था आया था और 2022 में अभी संपन्न हुई पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के पेपर लीक में भी पैसा मिलता और अब उसके बाद से फरार चल रहा था।

अब यह वरिष्ठ शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक करने में भी उसका हाथ है भूपेंद्र सारण की गिरफ्तारी के बाद और सुरेश ढाका की गिरफ्तारी के बाद इसमें कहीं चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं जिसमें इस ग्रुप में और भी कहीं प्रभावशाली तथा उच्च पदों पर आसीन लोगों के शामिल होने की भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

10 हजार से 5 लाख तक मे देते थे

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि फर्जी डिग्रियों और मार्कशीट कि कोई रेट निर्धारित नहीं है ₹10000 से लेकर ₹500000 तक भी ली जाती है यह राशि सामने वाले की जरूरत जानने के बाद निर्धारित की जाती है।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम