जयपुर राजस्थान

भारत के सैनिकों को फंसा रही है पाक की हसीनाएं,राजस्थान में एक और सैनिक गिरफ्तार,ISI को दे…

जयपुर/ पड़ोसी देश पाकिस्तान की खुफिया ऐजेंसी (ISI)अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और अपने यहां की सुंदर लड़कियों को जरिया बनाकर भारत की गुप्त सूचनाएं भारत के सैनिकों से सुंदर हसीनाएं सोशल मीडिया के जरिए हिंदू नाम और भारतीय बताकर फंसाते हुए यह काम कर रही है।

पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा जिले के कंचनपुर का रहने वाला शांतिमोय मार्च 2018 मे भारतीय सेना में भर्ती हुआ था और 24 वर्षीय यह सैनिक शांतिमोय जयपुर में छावनी में तैनात है । सीआईडी इंटेलिजेंस को सूचना मिली थी कि सैनिक शांतिमोय की गतिविधियां संदिग्ध है इस पर सीआईडी इंटेलिजेंस ने उस पर निगरानी और नजर रखना शुरू कर दिया और आखिर सीआईडी इंटेलिजेंस ने सैनिक शांतिमोय देश की गुप्त सूचनाएं पाक खुफिया एजेंसियों को देते हुए गिरफ्तार कर लिया।

सीआईडी इंटेलिजेंस के डीजी उमेश मिश्रा के अनुसार पूछताछ में सैनिक शांतिमोय ने खुलासा किया कि व्हाट्सएप और वीडियो कॉल व सोशल मीडिया के जरिए वह पाकिस्तानी महिला एजेंट के संपर्क में आया था । महिला एजेंट उसे अपना नाम गुरुनूर कौर उर्फ अंकिता बताते हुए शाहजहांपुर उत्तर प्रदेश निवासी बताया और साथ ही था कि वह शाहजहांपुर में ही मिलिट्री में इंजीनियरिंग सर्विसेज में तैनात है तथा दूसरी महिला ने अपना नाम निशा बताते हुए मिलिट्री में नर्सिंग सर्विसेज मैं बताया । वह इन दोनों महिलाओं से सोशल मीडिया के जरिए बातचीत करता था फिर इन दोनों महिलाओं ने उसे हनीट्रैप में फंसा लिया और पैसों का लालच दिया तथा उससे रेजिमेंट के गंभीर व गोपनीय दस्तावेज और युद्धाभ्यास के वीडियो मंगवाए । बताया जाता है कि इसके एवज में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर उसके( आरोपी जवान शांतिमोय) के बैंक खाते में भी रुपए भेजे गए हैं । आरोपी जवान ने पूछताछ में यह भी स्वीकार किया कि वह काफी समय से पाकिस्तानी खुफिया एजेंट के संपर्क में था।

सीआईडी इंटेलिजेंस ने आरोपी जवान का मोबाइल जब्त कर लिया है और उसकी छानबीन की जा रही है इसके साथ ही अब तक उसने कितनी गुप्त सूचनाएं और क्या-क्या सूचनाएं पाक एजेंटों को भेजी तथा उसके बदले उसे कितने रुपए उसके बैंक खाते में जमा हुए यह सारी जांच पड़ताल की जा रही है।

अभी कितने जवान हसीनाओं के चंगुल मे फंसे है

विदित है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा सुंदर लड़कियों के जरिए भारतीय सैनिकों को हनी ट्रैप में फंसाने के मामले पहले भी सामने आए हैं और उजागर हुए हैं और यह सिलसिला अभी भी जारी है पता नहीं अभी और कितने जवान पाक खुफिया एजेंसी की महिला एजेंटों के चंगुल में फंसे हुए हैं ?

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम