मंच पर साथ पर दिलों में अब भी है पायलट-गहलोत के बीच दूरियां

  जयपुर।  राज्य में सरकार बनाने के लिए सचिन पायलट और अशोक गहलोत ने अभी तक सीएम पद का अपना दावा छोड़ा नहीं, बस रणनीति बदली है. अब दोनों का जोर अपने गुट के ज्यादा से ज्यादा समर्थकों को टिकट दिलाना, जिससे पार्टी सत्ता में आई तो विधायकों के जरिए सीएम का दावा ठोक सके। …

मंच पर साथ पर दिलों में अब भी है पायलट-गहलोत के बीच दूरियां Read More »

September 21, 2018 8:25 am

 

जयपुर।  राज्य में सरकार बनाने के लिए सचिन पायलट और अशोक गहलोत ने अभी तक सीएम पद का अपना दावा छोड़ा नहीं, बस रणनीति बदली है. अब दोनों का जोर अपने गुट के ज्यादा से ज्यादा समर्थकों को टिकट दिलाना, जिससे पार्टी सत्ता में आई तो विधायकों के जरिए सीएम का दावा ठोक सके।

पीसीसी में अब यहीं चर्चा है कि पायलट और गहलोत दोनों नेता बीजेपी को मात देने के लिए एक साथ काम करेंगे या खुद के मुख्यमंत्री बनने की जंग लड़ेंगे. कांग्रेस की इस गुटबाजी की चर्चा यहां आम है, लेकिन पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ये मान लिया कि पार्टी सत्ता में तभी आ सकती है जब गहलोत और पायलट भिड़ने के बजाय दोस्ती कर लें.

एक सप्ताह पहले करौली में कांग्रेस की संकल्प रैली में मंच तक सचिन पायलट और अशोक गहलोत एक ही बाइक पर पहुंचे थे. बाइक चला रहे थे सचिन पायलट और पीछे बैठी सवारी थे अशोक गहलोत. राहुल गांधी ने कहा कि पायलट के पीछे गहलोत को बाइक पर बैठे तस्वीर देख कर ही मैंने मान लिया था कि अब राजस्थान में कांग्रेस पार्टी चुनाव जीत जाएगी.

राहुल गांधी ने कहा कि इससे अनुमान लगा लिया कि राजस्थान में कांग्रेस अब एकजुट होकर मिलकर चुनाव लड़ रही है. यानी गुटबाजी खत्म होने की उम्मीद है। राहुल गांधी का यह बयान राजनीतिक हलकों में बहुत ही महत्वपूर्ण माना जा रहा है, पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष भी यह मान रहा है कि यहां सब कुछ सही नही चल रहा है और गहलोत तथा पायलट के बीच दूरियां है। ऐसे में वे किसी नेता पर कार्रवाई से बचने के लिए दोनों के एक करने में ही जुटे हुए है।

 

राहुल गांधी ने ये कहकर राजस्थान कांग्रेस में सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच गुटबाजी की चौड़ी दरार की ओर इशारा किया कि जनता की तकलीफ और बीजेपी को हराने की मंशा दोनों में एकजुटता लेकर आई है. उन्होंने कहा कि जनता के दर्द ने पार्टी को एकजुट किया. राहुल गांधी ने कहा कि अमूमन नेताओं में एकजुटता लाने के लिए उन्हें बैठाकर समझाना पड़ता है, लेकिन दोनों ने खुद ही तय किया कि वे साथ चलेंगे.

पिछले महीने ही इससे पहले रोड शो के बाद रैली में राहुल गांधी ने सचिन पायलट और अशोक गहलोत को पहले हाथ मिलाने और फिर गले लगने के लिए कहा था। राहुल के फरमान के बाद न केवल दोनों मंच पर गले मिले उसके बाद एकजुटता दिखाने के लिए कांग्रेस की संकल्प रैलियों में बस में बैठकर गहलोत और पायलट एक साथ जाने लगे।
राजस्थान में सचिन पायलट और अशोक गहलोत कई दफा खुद के सीएम के चेहरे और नेतृत्व का दावा इशारों में ही नहीं मीडिया के सामने कह चुके हैं.

 

अशोक गहलोत खुद की लोकप्रियता को आधार गिना कर दावा करते नजर आए. साल 2013 की हार को वह खुद की हार के बजाय मोदी लहर का नतीजा बता चुके हैं। दोनों के चुनावी मैदान में उतरने का असर ये हुआ कि राजस्थान में पार्टी को बूथ स्तर पर मजबूत करने के लिए आयोजित किए गए मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम दोनों गुटों के बीच शक्ति प्रदर्शन का अखाड़ा बन गया था और आपसी आरोप- प्रत्यारोप शुरू होने लगा था.

 

Prev Post

बिजली के ट्रांसफार्मर नहीं सुरक्षित

Next Post

कमजोर सीटों पर रणनीति बदलने लगी कांग्रेस

Related Post

Latest News

कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO
कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..

Trending News

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान

Top News

कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
भीलवाड़ा शहर में 2 साल बाद 5 अक्टूबर को निकलेगा विशाल पथ संचलन
राजस्थान शिक्षा विभाग- राजस्थान में सरकारी स्कूलों का समय परिवर्तन 15 से बदलेगा
सफाई कर्मचारी भर्ती मामला - अलवर नगर परिषद व सरकार को हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर नोटिस
कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..
गहलोत को CM हटाते ही राजस्थान में कांग्रेस खंड-खंड बिखर ...
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान