राजस्थान में अब निजी स्कूल पर नकेल डालने की तैयारी ,होगी जांच, असहयोग करने पर मान्यता रद्द 

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

जयपुर । राजस्थान में निजी स्कूल ऑन की बढ़ती मनमानी और हद्धार्मिता से परेशान अभिभावकों और विद्यार्थियों को राहत देने के साथ ही निजी स्कूलों पर नकेल डालने की तैयारी कर ली है। प्रदेश की सभी निजी स्कूल चाहे वह किसी भी बोर्ड से संबंधित हो सभी की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय कमेटी गठित की गई है और जांच के बिंदु निर्धारित किए गए हैं। इन जांच के बिंदुओं का जवाब नहीं देने और अधिकारियों को संतुष्ट नहीं करने पर इन निजी स्कूलों की मान्यता रद्द करती जाएगी ।

राज्य सरकार की 100 दिवसीय कार्य योजना मैं में निजी स्कूल पर शिकंजा कसने की कार्य योजना भी शामिल की है और जांच के लिए उच्च स्तरीय दल गठित कर दिया गया है ।

यह जहां निजी स्कूलों की जांच कर जांच के दौरान यह देखेगी कि यहां फीस एक्ट की पालना हो रही है या नहीं? आरटीई की पालना हो रही है या नहीं? निजी स्कूलों में भौतिक सुविधाओं की क्या स्थिति है? शिक्षकों को वेतन मान क्या है ?और वह स्कूल आते भी हैं या नहीं?

तथा सरकार के समय-समय पर निकलने वाले और निर्धारित आदेशों की पालना भी हो रही है या नहीं? इस प्रकार के कुल 21 बिंदु जांच में निर्धारित किए गए हैं नेशनल इन 21 बिंदु के आधार पर जांच कर अपनी रिपोर्ट सरकार को देगा।

शिक्षा विभाग ने निरीक्षण दल गठित करने का आदेश जारी किया है। निजी स्कूल चाहे किसी भी बोर्ड से संबंधित हो। विभाग के निरीक्षण के दायरे में शामिल रहेगा। जांच में सहयोग नहीं करने वाले निजी स्कूल की मान्यता समाप्त होगी।

विभाग की 100 दिन की कार्ययोजना में निजी स्कूलों का निरीक्षण करने का बिंदू भी शामिल था। इसकी पालना में यह आदेश जारी हुआ है। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय की ओर से संयुक्त निदेश, सीडीईओ, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक मुख्यालय सहित समस्त निजी स्कूलों के संस्था प्रधान और सचिव को आदेश जारी किए गए हैं।

निरीक्षण दल प्रमुख बिंदुओं के आधार पर करेगा जांच

 

{ट्रस्ट, सोसायटी के पंजीयन के दस्तावेज

 

{मान्यता के दस्तावेज, पंजीकृत किरायानामा, भूस्वामित्व, अग्नि सुरक्षा प्रमाण पत्र, भवन सुरक्षा प्रमाण पत्र

 

{आरटीई में प्रवेश छात्रों का पूरी विवरण, पुनर्भरण की स्थिति

 

{ फीस की पालना और इससे जुड़े प्रस्ताव पारित करने की प्रति

 

{संस्था की संपत्तियों की विवरण

 

{जांच लंबित या प्रक्रियाधीन

 

{स्कूल की स्वच्छता रिपोर्ट

 

{पिछले 3 साल की सीए की रिपोर्ट

 

{संयुक्त एफडीआर की प्रति

 

{गुड टच बेड टच को लेकर आयोजित कार्यक्रमों की रूपरेखा

 

कुल नामांकन, कक्ष की व्यवस्था

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम