राजस्थान में अब गांवो की तरह शहरों में भी मनरेगा, प्रक्रिया शुरू, कैसे और किसको जानें

Get quality work done in pasture development, PM housing and MNREGA - Chinmayi Gopal

जयपुर/ राजस्थान मे अशोक गहलोत नीत कांग्रेस सरकार ने गांवो की तरह ही शहरो मे भी बेरोजगारो को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सीएम गहलोत ने बजट मे घोषणा की की अब शहरो मे भी मनरेगा चलेगा और बेरोजगारो को 100 दिन का रोजगार मिलेगा । सीएम गहलोत की इस योजना पर सरकार ने प्रक्रिया शुरू कर दी है । इस योजना मे कैसे किसको और क्या काम होगा जाने।

200 से ज्यादा नगर पालिका क्षेत्रों में इस योजना के तहत 800 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है। हर जिले की नगर पालिका, नगर निगम व नगर परिषद के लिए अलग-अलग बजट निर्धारित है। जरूरत के अनुरूप पालिकाएं काम का निर्धारण करके उन्हें इस योजना के तहत करवाएंगी। इसमें 18 से 60 साल की आयु ग्रुप के लोगों को रोजगार दिया जाएगा।

 

क्या काम होगा 

 

आवेदक जिस वार्ड या जोन क्षेत्र का है, उसे वहीं पर ही रोजगार मिलेगा

इस योजना में सार्वजनिक स्थलो पर पौधारोपण, गार्डनों के रखरखाव, फुटपाथ, डिवाइडर व अन्य सार्वजनिक स्थानों पर लगे हुए पौधों को पानी देने का काम मिलेगा।

तालाब, बावड़ी, जोहड़ आदि की मिट्टी निकालने, सफाई, रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर का निर्माण एवं रखरखाव का काम शामिल है।

इसके अलावा डम्पिंग साइट पर कचरे के सेग्रीगेशन, मोक्षधाम की सफाई, सामुदायिक शौचालय व मूत्रालय की सफाई, नाला-नालियों की सफाई का काम भी दिया जाएगा।

सड़क व सार्वजनिक स्थल पर झाड़ियों व घास की सफाई, शहरों में लगे अवैध बोर्ड, होर्डिंग्स, बैनर आदि हटाने, सड़क डिवाइडर, रैलिंग, दीवार पर पुताई-पेंटिंग समेत अन्य कई तरह के काम करवाए जाएंगे।