नगर निगम में परिसीमन में धांधली नहीं होती भाजपा की जीत तय थी- सतीश पूनियां

राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी में राजस्थान टीम की तारीफों के बांधे पुल

Jaipur News । भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह ने कहा कि आप सभी जनप्रतिनिधि जनहित में अच्छे कार्य करते हुए मोदी सरकार की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाने का कार्य करें। उन्होंने पंचायतीराज चुनाव में प्रदेश में भाजपा के शानदार प्रदर्शन को लेकर कहा कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां एवं इनकी पूरी प्रदेश भाजपा टीम की मेहनत की राष्ट्रीय नेतृत्व भी प्रशंसा कर रहा है। इसके लिए सभी कार्यकर्ताओं के परिश्रम को अभिनन्दन एवं बधाई। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस के कुशासन से आमजन, किसान एवं युवा हताश एवं परेशान है। प्रदेश में ऐसे हालात बन चुके हैं कि अगर आज विधानसभा के चुनाव हो जाये तो भाजपा तीन- चौथाई बहुमत के साथ सरकार बनायेगी।

अरूण सिंह ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व वर्तमान में सोनिया गांधी, पहले राहुल गांधी थे, फिर सोनिया गांधी आ गई और अब फिर राहुल गांधी आ जायेंगे इस तरीके से पूरी तरह परिवारवाद की पार्टी है एवं भाजपा दुनिया की एक ऐसी पार्टी है, जो राष्ट्रवाद की विचारधारा को लेकर कार्य करती है।

डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि पंचायतीराज चुनाव एवं इससे पहले नगर निगम चुनावों में भाजपा ने शानदार जीत दर्ज की। अगर जयपुर, जोधपुर एवं कोटा में तीन ही निगम होते तो मुझे पूरा विश्वास है कि भाजपा तीनों निगमों में भाजपा जीत दर्ज करती, लेकिन कांग्रेस सरकार ने परिसीमन और जोड़-तोड़ के नाम पर धांधली कर चुनाव जीतने के लिए षडयंत्र किये एवं कोटा में तो एक पार्षद प्रत्याशी के माता-पिता को पुलिस कस्टडी में रखा और जब पार्षदों को लेकर बस मतदान स्थल पर जा रही थी तो सम्बन्धित पार्षद के माता-पिता को बस के आगे लिटा दिया और अब पंचायतीराज चुनाव में प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को लिटा दिया है। पंचायतीराज चुनाव के नतीजों पर मुख्यमंत्री गहलोत के आँकड़ों वाले बयान पर आश्चर्य होता है कि वे सिर्फ आँकड़ों की बाजीगरी कर रहे हैं और हार को स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसी विपक्षी दल की पंचायतीराज चुनाव में अब तक की सबसे बड़ी जीत है।

डॉ. पूनियां ने कहा कि अब तक के राजनैतिक इतिहास में कांग्रेस की सरकार अकर्मण्य, भ्रष्ट एवं अराजक सरकार है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से आहृान करते हुए कहा कि हमें जनहित में कार्य करते हुए आगे बढऩा है और पार्टी को मजबूत करना है। उन्होंने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार के तीनों कृषि कानून किसानों के कल्याण के लिए है, इनसे किसानों की तरक्की के रास्ते खुलेंगे। लेकिन मुख्यमंत्री गहलोत सोनिया गाँधी को खुश करने के लिए इन बिलों का विरोध कर रहे हैं।
डॉ. पूनियां ने कहा कि राज्य में बेरोजगारी, बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था, सम्पूर्ण किसान कर्जमाफी, 3 महीने के बिजली माफी सहित विभिन्न जनहित के मुद्दे हैं, जिन पर कांग्रेस सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है। सामान्यतया चार वर्षों में किसी भी सरकार के खिलाफ एन्टी इन्कमबेंसी का माहौल बनता है, लेकिन कांग्रेस की गहलोत सरकार के खिलाफ दो साल में ही सत्ता विरोधी लहर है।