विधायक चंद्रभान आंक्या,अशोक कोठारी की भाजपा में वापसी तय

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read

जयपुर। राजस्थान में भाजपा विधानसभा चुनाव में टिकट काटने पर पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ बागी होकर चुनाव लड़ने वाले नेताओं और चुनाव जीतने वाले निर्दलीय विधायकों को भाजपा में वापसी की तैयारी संगठन स्तर पर शुरू हो गई है और लगभग लोकसभा चुनाव से पहले कुछ विधायक और नेताओं की भाजपा में वापसी होना तय माना जा रहा है ।

विधानसभा चुनाव में टिकट के प्रबल दावेदार होने के बाद भी उनका टिकट काटकर अन्य व्यक्ति को टिकट देने के बाद उसे विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी की हार और बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले की जीत हुई थी ऐसे कुछ विधानसभा क्षेत्र हैं ।

विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी से बगावत करने वालों के लिए संगठन के पदाधिकारी नेताओं द्वारा सार्वजनिक तौर पर और मीडिया को दिए बयानों में स्पष्ट कहा था कि उनकी किसी भी हालत में पार्टी में वापसी नहीं होगी पार्टी के राजस्थान प्रभारी चंद्रशेखर ने तो भीलवाड़ा में यहां तक का था कि 6 साल तक किसी भी सूरत में पार्टी से बगावत करने वाले नेताओं को अब पार्टी में नहीं लिया जाएगा ।

लेकिन यह बयान केवल चुनाव तक ही सीमित रहे अब भाजपा लोकसभा चुनाव में पार्टी को मजबूत बनाने और राजस्थान की सभी 25 सीटों को जीतने के लिए जोर लगा रही है और इसी पार्टी स्तर पर विचार मंथन के बाद यह तय हुआ है कि पार्टी से बगावत का चुनाव लड़कर जीतने वाले विधायकों को वापस पार्टी में लिया जाएगा उन्हें पार्टी में ही नहीं लिया जाएगा ।

वरन उन्हें भाजपा का विधायक भी माना जाएगा इसी कड़ी में लोकसभा चुनाव से पहले कुछ प्रमुख विधायक और नेताओं की वापसी होने वाली है इनमें चित्तौड़गढ़ से पार्टी से बगावत कर पूर्व विधायक और वर्तमान विधायक चंद्रभान आंक्या, जबकि भीलवाड़ा विधानसभा सीट से स्वयंसेवक संघ ने भाजपा संगठन से प्रत्याशी बदलने की मांग की थी ।

लेकिन पार्टी द्वारा प्रत्याशी नहीं बदलकर तीन बार के विधायक विट्ठल शंकर अवस्थी को ही चौथी बार विधायक प्रत्याशी बनाया था इससे नाराज होकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भीलवाड़ा में पहली बार भाजपा से बगावत कर सर्वसम्मति से अशोक कोठारी को मैदान में उठा रहा था और उनके साथ दिया था ।

भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष उपन्यास अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण डाड पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष लादू लाल तेली नगर परिषद में उपसभापति रामलाल योगी भाजपा के पूर्व नगर मंडल अध्यक्ष कन्हैयालाल स्वर्णकार ने कोठारी ने यहां से भाजपा प्रत्याशी अधिकृत प्रत्याशी को अवस्थी को हराकर जीत दर्ज की और विधायक बने।

हालांकि उद्योगपति अशोक कोठारी कभी भी भाजपा के प्राथमिक सदस्य नहीं रहे हैं लेकिन संघ विचारधारा उनकी रही है और अब जिन नेताओं की घर वापसी की जा रही है उनमें अशोक कोठारी का नाम भी शामिल है अशोक कोठारी को भाजपा में शामिल करते हुए उन्हें भाजपा का विधायक बनाने की कवायद है और लोकसभा चुनाव से पहले ही चंद्रभान आंक्या और अशोक कोठारी को भाजपा में शामिल कर लिया जाएगा ऐसी प्रबल संभावनाएं और चर्चा संगठन में है।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम