मंत्री रमेश मीणा ने अपनी सरकार पर उठाए सवाल किया कटघरे में खड़ा क्या देखें वीडियों

मंत्री रमेश मीणा ने कहा,प्रशासन और किरोड़ी मीणा के बीच मैच फिक्सिंग 

August 10, 2022 4:23 pm
मंत्री रमेश मीणा ने अपनी सरकार पर उठाए सवाल किया कटघरे में खड़ा क्या देखें वीडियों

जयपुर। पंचायत राज मंत्री रमेश मीणा और बीजेपी के राज्यसभा सांसद किरोड़ी मीणा एक बार फिर आमने-सामने हैं। इस बार पंचायत राज मंत्री रमेश मीणा ने किरोड़ी मीणा को असामाजिक तत्व बताते हुए अपनी सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि सरकार और प्रशासन को बार-बार चैलेंज करने वाले किरोड़ी मीणा पर इतनी मेहरबानी क्यों है। रमेश मीणा ने कहा कि किरोड़ी मीणा पर 5 से ज्यादा मामलों में गंभीर मुकदमे दर्ज हैं जिनकी रिपोर्ट भी हो चुकी है फिर सरकार की ऐसी क्या मजबूरी है कि किरोड़ी मीणा को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है।

 रमेश मीणा ने बुधवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि किरोड़ी मीणा दबंगई दिखाने और मीडिया में खबर छपवाने के लिए इस तरह की हरकतें करते रहते हैं।

 मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि किरोड़ी मीणा दावा किया था कि 2 लाख लोग जयपुर कूच करेंगे लेकिन शाम होते-होते 15 हज़ार लोग ही रह गए और उन्हें मालूम था कि शाम को लोग भाग जाएंगे इसलिए प्रशासन से मैच फिक्सिंग करके आंदोलन वापस ले लिया।

 

बीजेपी सरकार में क्यों नहीं बोले किरोड़ी मीणा

मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि ईस्टर्न कैनाल परियोजना की डीपीआर पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार के समय साल 2017 में बनी थी, उस वक्त भ क्या क्या नियम जोड़े जा रहे थे, किरोड़ी मीणा उस वक्त क्यों नहीं बोले।

क्या वह उस वक्त सो रहे थे। रमेश मीणा ने कहा कि इनका विकास से कोई लेना देना नहीं है आज तक उन्होंने ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे जनता को फायदा पहुंचा इनको तो केवल दबंगई दिखानी होती है।

यह लोग केवल लाशों की राजनीति करते हैं और अपनी दबंगई दिखाकर अधिकारियों को भी डराने का काम करते है।मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि हम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार से मांग करते हैं कि प्रशासन और सरकार को बार-बार चैलेंज करने वाले ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया जाए लेकिन हम भी सोचने को मजबूर है कि आखिर सरकार की क्या मजबूरी है जो गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है।

सरपंचों की सभी मांगों का निस्तारण

 सरपंचों के एक धड़े की ओर से 24 अगस्त को प्रस्तावित आंदोलन को लेकर मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि सरपंच से जुड़ी कोई मांग पेन्डिंग नहीं बची है उनकी जो समस्याएं थी सब का निस्तारण कर दिया गया है लेकिन जो लोग आंदोलन की बात कर रहे हैं।ये वो यह लोग जिन्हें राजनीति करनी है या एमएलए बनना है। वो अपनी राजनीति करते रहे लोकतंत्र में धरना देने का अधिकार सभी को है धरने होते रहने चाहिए।

Prev Post

इंदिरा गांधी नहर में गंदे पानी के निस्ताण को लेकर सीएम गहलोत की भगवंत मान से वार्ता

Next Post

रक्षाबंधन को लेकर संशय, कहीं अनिष्ट न हो जाएं, कब मनाए राखी , पढ़े ये ख़बर 

Related Post

Latest News

राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा 
बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा 
बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला
भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
उपराष्ट्रपति कल राजस्थान के बीकानेर दौरे पर
नवरात्रा 26 से, घट स्थापना का मुहूर्त कब-कब और कैसे करें जानें 
PFI को खाड़ी देशों से मदद, Ed ने 120 करोड़ रुपए किए जब्त,PM पर हमले की थी साजिश
अंकिता हत्याकांड - भाजपा के नेता व पूर्व मंत्री के बेटे के रिसोर्ट पर चला बुलडोजर नेता पार्टी से निलंबित 
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन आज से शुरू, 30 सितम्बर है आखिरी तारीख
कांग्रेस में 'एक व्यक्ति एक पद' का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा