जयपुर

महापंचायत के बहाने अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच की दूरी कम होगी ?

जयपुर। मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्‍द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि आज बॉर्डर पर किसान सर्दी में मर रहा है, ऐसा हिंदुस्तान के इतिहास में पहली बार हुआ है। दुनिया भारत की आलोचना कर रही है। किसान कह रहा है कि किसान कानून वापस ले लो। किसान के हित की बात कहने वाले लोग, आज कानून लेकर आ रहे हैं? मुख्‍यमंत्री शनिवार को बीकानेर के श्रीडूंगरगढ और चित्तौड़गढ़ के मातृकुंडिया में आयोजित किसान महापंचायतों को संबोधित कर रहे थे। महापंचायत में पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट, कांग्रेस प्रदेशाध्‍यक्ष गोविन्‍द सिंह डोटासरा और प्रदेश प्रभारी अजय माकन भी मौजूद हैं। महापंचायत के बहाने गहलोत और सचिन पायलट के बीच की दूरी भी कम होते दिखी। दोनों ने हेलिकॉप्टर और मंच साझा किया।

गहलोत ने कहा कि मोदी जी कहते रह गए अच्छे दिन आएंगे। क्या अच्छे दिन आ गए? लोग कहने लग गए कि मोदी जी आप तो हमें पहले वाले दिन वापस कर दो। ऐसे अच्छे दिन आए हैं कि किसान सड़क पर आ गए। भाषण के दौरान गहलोत ने खुद की तारीफ करते हुए कहा कि मैंने तीन घंटे बजट पढ़ा। आप तीन घंटे के सिनेमा में जाते हैं। पूरा बजट किसानों के हित का था। इसलिए लंबा भाषण था। हमने विकास पर फोकस किया है। आगे भी विकास करेंगे। इस मौके पर गहलोत ने उपचुनाव के लिए वोट भी मांगा।

सभा में पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि हम केंद्र सरकार को मजबूर करेंगे कि तीनों कानून वापस लें। कांग्रेस ने हमेशा किसानों का साथ दिया है। राहुल गांधी ने एक ही बात कही है कि देश के किसान देश की रीढ़ की हड्‌डी हैं। क्या विवशता है कि पीएम उनकी बात नहीं करते? किसान सड़क पर बैठे हैं। वे कानून थोपना चाहते हैं, किसानों की मांग पर कोई बात नहीं करना चाहता। जो नया कानून बनाया है, उसमें जमाखोरी को बढ़ावा दिया गया है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने कहा कि हमारी पार्टी किसानों का बजट अलग से करने की मांग करती रही है। सबसे पहले गहलोत सरकार ने इस मांग को खुद पूरा किया है। अब अगले साल से किसान बजट अलग से पेश किया जाएगा। श्रीडूंगरगढ़ में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अजय माकन के भाषण के दौरान सभा में बैठे बेरोजगारों ने पटवारी भर्ती की मांग को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस ने उन्हें बैठाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने तो पुलिस उन्हें पकड़कर सभा से दूर ले गई।

गहलोत-पायलट एक साथ !

श्रीडूंगरगढ़ के लिए शनिवार सवेरे मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत, सचिन पायलट, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष डोटासरा, प्रभारी अजय माकन ने एक ही हेलिकॉप्टर से जयपुर से रवाना होकर एकता का नया संदेश देते नजर आए। जुलाई में बगावत के बाद पायलट और गहलोत के रिश्ते बहुत खराब हो गए थे। हाल में पायलट की किसान महापंचायतों में भारी भीड और राहुल गांधी की सभा में पायलट को मंच पर उचित जगह न मिलने के बाद दोनों नेताओं के बीच सियासी टकराहट बढ़ने की खबरे थींं लेकिन आज हेलिकॉप्टर यात्रा को दोनों नेताओं के साथ जाने से पार्टी की ओर से डेमेज कंट्रोल की कवायद की गई।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम