राज्य में विधायक मंत्रियों को टिकट कटने का सताया डर

जयपुर।   प्रदेश भाजपा में छत्तीसगढ़ के रिएक्शन से बुखार चढ़ गया है, यहां पर पहली ही सूची में मौजूदा विधायकों के टिकट काटने की सूचना पर राजस्थान के मंत्रियों और विधायकों का पारा चढा हुआ है। चुनाव के मैदान में उतर चुकी भाजपा के सामने इस बार एंटी इंकंबेसी के बीच अपनी सत्ता को बचाए …

राज्य में विधायक मंत्रियों को टिकट कटने का सताया डर Read More »

October 24, 2018 4:40 pm
जयपुर।   प्रदेश भाजपा में छत्तीसगढ़ के रिएक्शन से बुखार चढ़ गया है, यहां पर पहली ही सूची में मौजूदा विधायकों के टिकट काटने की सूचना पर राजस्थान के मंत्रियों और विधायकों का पारा चढा हुआ है।
चुनाव के मैदान में उतर चुकी भाजपा के सामने इस बार एंटी इंकंबेसी के बीच अपनी सत्ता को बचाए रखने की बड़ी चुनौती है उपचुनाव के बाद से अब तक पार्टी स्तर पर किए गए सर्वे और दौरों के दौरान कई विधायकों के खिलाफ नाराजगी सामने आ चुकी है साथ ही इनकी परफोर्मेंस भी बेहतर नहीं मिली।
रणकपुर और जयपुर में सभी सीटों पर हुई रायशुमारी के दौरान आधा दर्जन से अधिक मंत्रियों के साथ ही करीब डेढ़ दर्जन विधायकों के खिलाफ कार्यकर्ता और स्थानीय संगठन पदाधिकारियों ने मोर्चा खोल दिया है। राज्य में बने एंटी इंकंबेसी को कम करने के लिए पार्टी ने अंदरखाने कई विधायकों के टिकट कटने के संकेत दे दिए हैं।
माना जा रहा है कि इस बार करीब 40 से 50 फीसदी विधायकों के टिकट कट सकते हैं लेकिन, इससे पहले छत्तीसगढ़ में पार्टी स्तर पर जारी की गई प्रत्याशियों की सूची के दौरान 78 सीटों में से 14 विधायकों के टिकट काटने पर बवाल मच गया। पार्टी के पदाधिकारियों ने नई रणनीति तय की है इसमें टिकट काटने से पहले विधायकों को विश्वास में लिया जाएगा तथा उन्हें सरकार बनने के बाद दूसरी पोस्ट देने का वायदा किया जाएगा।  जिससे उनके समर्थकों की तरफ से कोई विरोध सामने नहीं आए।
चुनाव के मैदान में जीत हासिल करने के लिए भाजपा के स्तर पर जिताऊ प्रत्याशियों के चयन को लेकर मशक्कत जारी है मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्यों ने मिलकर दो चरणों में  200 सीटों पर रायशुमारी का काम पूरा कर लिया है इसमें सामने आए दावेदारों के नाम पर कोर कमेटी की बैठक में मंथन किया जा रहा है।
इन विधायकों के मंत्रियों के टिकट कर सकते हैं टोंक से कन्हैया लाल चौधरी निवाई से हीरा लाल रेगर केकड़ी से शत्रुघ्न गौतम कोटा से भवानी सिंह राजावत पहलाद गुंजल,अजमेर से अनिता भदेल वासुदेव नानी अंता सेव मंत्री प्रभुलाल सैनी कोटा से भवानी सिंह राजावत पहलाद गुंजल
आदि नाम समाने आ रहे है।

Prev Post

राहुल अनभिज्ञ हैं राजस्थान से,दिगभ्रमित कर रहे हैं कांग्रेस नेता -राजेन्द्र राठौड़

Next Post

अब ​भाजपा एमएलए राजावत के बिगडे बोल, अधिकारी को धमकाया

Related Post

Latest News

सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज

Trending News

वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी

Top News

सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
टोंक शांति एवं सद्भावना समिति की बैठक आयोजित
जयपुर को मिली एबीवीपी के राष्ट्रीय अधिवेशन की मेजबानी, अमित शाह करेंगे उद्घाटन सत्र में शिरकत
विजयादशमी पर  जयपुर में 29 स्थानों पर संघ का पथ संचलन, शस्त्र पूजन व शारीरिक प्रदर्शन भी होंगे
वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
टोंक जिला स्तरीय राजीव गांधी युवा मित्र प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित%%page%% %%sep%% %%sitename%%
Upload state insurance and GPF passbook in new version of SIPF
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सुमन, रिजवाना बानो एवं दिनेश को मिली राहत
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज