केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और महंगाई का पूतला फूंका

जयपुर। रसोई गैस, पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में गुरुवार को कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी (सीपीएम) के कार्यकर्ताओं ने हसनपुरा स्थित श्रम कार्यालय से एनबीसी रोड तक पहले जुलूस निकाला और उसके बाद मोदी और महंगाई पूतला फूंका।

कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी जिला सचिव सुमित्रा चोपड़ा ने बताया कि श्रम विभाग कार्यालय से बड़ी संख्या में महिला-पुरूष कार्यकर्ता हाथों में तख्तियां, बैनर, पोस्टर हाथों में लिए निकले और केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। नारेबाजी कार्यकर्ताओं का जुलूस एनबीसी रोड स्थित सब्जी मंडी के पास पहुंचा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और महंगाई पूतला फूंका गया।

 

जिला सचिव सुमित्रा चोपड़ा ने बताया कि केन्द्र की सरकार लगातार पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दामों में बेहताशा बढ़ोतरी कर रही है। इसका सीधा असर सामान्य वर्ग से जुड़े लोगों पर पड़ रहा है। डीजल-पेट्रोल के दामों की बढ़ोतरी के कारण महंगाई बढ़ रही है और इसका सीधा असर खाद्य वस्तुओं पर पड़ता है। इस कारण खाद्य पदाथों की कीमतों में 30 प्रतिशत तक का इजाफा हो गया।
सीपीएम राज्य महासचिव अमराराम ने राज्य सरकार की नीतियों का भी विरोध करते हुए कहा कि राज्य में गहलोत सरकार ने वैट बढ़ाकर सरकारी खजाना तो भर रही है, लेकिन इसका बुरा प्रभाव आमजन पर पड़ रहा है। वैट की दरें अधिक होने के कारण आज पड़ौसी राज्यों से हमारे यहां पेट्रोल-डीजल 10 रुपये तक महंगा है। ऐसे में राज्य सरकार को वैट में कमी करनी चाहिए।