जयपुर के सांगानेर में अभिभावकों ने सड़कों पर उतर किया विरोध प्रदर्शन

अभिभावकों ने स्कूलों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए रैली निकाली

जयपुर। स्कूल फीस को लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है इस मसले को लेकर अंतरिम आदेश भी आ चुका है जिस पर फाइनल ऑर्डर आना बाकी है। किंतु निजी स्कूल संचालक सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवमानना कर रहे है।
संयुक्तऔर एन. के पब्लिक स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन सहित एक्टिव पेरेंट्स एसोसिएशन के पदाधिकारी और अभिभावक सांगानेर स्थित स्टेडियम में एकजुट हुए और निजी स्कूलों की हठधर्मिता पर जमकर अपनी भड़ास निकाली।

 

इस दौरान संयुक्त अभिभावक संघ के प्रदेश महामंत्री संजय गोयल, प्रदेश मंत्री अमृता सक्सेना, जयपुर जिला अध्यक्ष युवराज हसीजा, एक्टिव पेरेंट्स एसोसिएशन अध्यक्ष मनीष शर्मा, अरविंद शर्मा, विमल व्यास, राम सोनी, एन. के पब्लिक स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन संयोजक ज्ञान सिंह नरुका, धर्मेंद्र धनोपिआ, रामकिशन सहित बड़ी संख्या में अभिभावक जुटे।

संघ जयपुर जिला अध्यक्ष युवराज हसीजा ने कहा कि निजी स्कूल संचालक लगातार हठधर्मिता का प्रदर्शन कर रहे है, सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम आदेश में स्पष्ट कहा है कि वर्ष 2019-20 के अनुसार निजी स्कूल संचालक 5 मार्च से 6 किश्तों में फीस वसूल सकते है, जो अभिभावक फीस जमा नही करवा सकते है स्कूल संचालक उनके बच्चों की ना पढ़ाई रोक सकते है और ना ही एक्जाम देने से रोक सकते है।

उसके बावजूद निजी स्कूल संचालक अभिभावकों पर दबाव बना रहे है और पूरी फीस जमा ना होने पर बच्चों की पढ़ाई रोक रहे है साथ ही एक्जाम देने से रोक रहे है। सुप्रीम कोर्ट ने भले ही अभिभावकों के खिलाफ जाकर शतप्रतिशत फीस जमा करवाने के आदेश दिए हो किन्तु अभिभावक सुप्रीम कोर्ट का सम्मान रखते हुए मजबूरन इस आदेश की पालना कर रहे है और अंतिम आदेश की प्रतीक्षा कर रहे है।

एन. के पब्लिक स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन संयोजक ज्ञान सिंह नरुका ने कहा कि स्कूल संचालक से लगातार वार्ता कर हम अपनी पीड़ाओं को साझा कर रहे है उसके बावजूद निजी स्कूल संचालक हमारी मजबूरी का मजाक उड़ा रहा है रविवार को सभी अभिभावकों ने एकजुट होकर स्कूलो की हठधर्मिता के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया जिसको लेकर सभी अभिभावक सांगानेर स्टेडियम में जुटे और संघ के ” अधिकार पत्र हस्ताक्षर अभियान ” में भाग लिया, उपस्थित सभी अभिभावकों ने सर्व प्रथम सँयुक्त अभिभावक संघ की सम्बद्धता ली और हस्ताक्षर किए। उसके बाद सांगानेर की सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान अभिभावकों ने स्कूलों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए रैली निकाली जो पेट्रोल पंप, सांगानेर बस स्टैंड सर्किल होते हुए सांगानेर के मुख्य बाजार में निकाली गई।

एक्टिव पेरेंट्स एसोसिएशन अध्यक्ष मनीष शर्मा ने कहा कि निजी स्कूल संचालक अब कितनी भी हठधर्मिता दर्शा लेंवे, अभिभावक अब जागरूक हो चुका है। सरकार और प्रशासन भले ही स्कूलो का संरक्षण कर लेंवे किन्तु अभिभावक इनकी हठधर्मिता को तोड़ेगा।