जयपुर जिले में इंटरनेट पर प्रतिबंध ,गुर्जर आंदोलन को देखते हुए

Jaipur News। राजस्थान में गुर्जर आंदोलन को देखते हुए जयपुर जिले के गुर्जर बाहुल्य इलाकों कोटपूतली, पावटा,  शाहपुरा, विराटनगर, जमवारामगढ, फागी, माधोराजपुरा, दूदू और मौजमाबाद की राजस्‍व सीमा में ब्राडबैंड को छोडकर इंटरनेट पर प्रतिबंध और 24 घंटे के लिए बढ़ा दिया गया है। संभागीय आयुक्त सोमनाथ मिश्रा ने इसके लिए आदेश जारी किया है। आदेशानुसार यह प्रतिबंध दो नवंबर की शाम पांच बजे से तीन नवंबर की शाम पांच बजे तक 24 घंटे के लिए बढ़ाया गया है।

 
बैकलॉग और एमबीसी कोटे में दिए गए आरक्षण संबंधी मांगों को लेकर गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति ने एक नवंबर को आंदोलन का आह्वान किया था। गुर्जर समाज कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के नेतृत्व में बयाना-हिण्डौन राजमार्ग स्थित पीलूपुरा-कारबारी शहीद स्मारक पर पहुंच गए हैं और रेलवे लाइन की पटरियों की चाबी निकाल दी है।
 
उल्‍लेेखनीय है कि गुर्जर आंदोलन को देखते हुए जयपुर जिले के गुर्जर बाहुल्य इलाकों कोटपूतली, पावटा, शाहपुरा, विराटनगर एवं जमवारामगढ़ की राजस्व सीमा में संवेदनशीलता को देखते हुए कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए इंटरनेट सेवा पर 30 अक्टूबर से प्रतिबंध लगाया गया था।
संभागीय आयुक्त सोमनाथ मिश्रा की ओर से जारी आदेश में बताया गया है कि कानून व्यवस्था को देखते हुए जयपुर जिले के गुर्जर बाहुल्य इलाकों कोटपूतली, पावटा, शाहपुरा, विरोटनगर, जमवारामगढ, फागी, माधोराजपुरा, दूदू और मौजमाबाद की राजस्‍व सीमा में 30 अक्टूबर शाम 6 बजे से 31 अक्टूबर शाम 6 बजे तक 24 घंटे के लिए इंटरनेट पर अस्थाई प्रतिबंध लगाया गया था, फिर उसकी समय सीमा 24 घंटे के लिए बढ़ाकर एक नवंबर शाम 6 बजे तक कर दी गई थी।
रविवार को इसकी समय सीमा 24 घंटे के लिए बढ़ाकर 2 नवंबर की शाम 6 बजे तक कर दी गई थी। अब तीन नवम्‍बर तक के लिए इंटरनेट पर अस्थाई प्रतिबंध लगाया गया है। इस आदेश का उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।