Fire 6 burns alive while charging electric bike
जयपुर

Jaipur /ऑटोमोबाइल कंपनी के गोदाम में लगी आग, 20 से ज्यादा दमकल की गाडियों ने पाया आग पर काबू

jaipur news । आमेर थाना इलाके में बुधवार को ऑटोमोबाइल कंपनी के गोदाम में भीषण आग लग गई। आग लगने से इलाके में अफरा—तफरी का माहौल गया। सूचना मिलने पर अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त सुमित गुप्ता,आमेर पुलिस सहायक आयुक्त सौरभ तिवाड़ी व पुलिस जाब्तते सहित दमकल की करीब 20 से ज्यादा गाड़ियों ने कई चक्कर लगाकर आग बुझाई है।  आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।  इस आग में काफी संख्या में रॉयल इन्फील्ड के कलपुर्जे, कुछ वाहन और स्टॉक में रखा मैन्यूफैक्चरिंग का सामान जलकर राख हो गया।


फायर ऑफिसर घनश्याम ने बताया कि जयपुर-दिल्ली हाइवे पर कूकस इंडस्ट्रीयल एरिया में आयशर कंपनी का यार्ड (गोदाम)में दोपहर करीब 12 बजे अचानक पेंट हाउस की तरफ आग की लपटें उठने लगी। वहां मौजूद कर्मचारी व सिक्यूरिटी गार्ड कुछ समझ पाते। उन्होंने आग बुझाने का प्रयास किया। लेकिन आग की लपटें नहीं बुझी। जिस पर दमकल को फोन कर सूचित किया गया।  

सहायक फायर अफसर देवेंद्र ने बताया कि गोदाम व फैक्ट्री में निर्मित हॉल की छतों को थर्माकोल व रबर कोट से तैयार किया हुआ था। इससे आग इतनी तेजी से फैली कि आसपास के पूरे परिसर को चपेट में ले लिया। जिससे वहां रखे काफी संख्या में बाइक बनाने के कलपुर्जे, कुछ गाड़ियां और काफी हेलमेट जलने लगे। इससे आसमान में काफी दूर तक काला धुआं छा गया। यह देखकर आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया।  करीब 20 से ज्यादा दमकल की गाड़ियां मौके पर बुलाई गई। 20 से ज्यादा दमकलकर्मियों और सिविल डिफेंस की टीम ने आग पर काबू पाने के लिए बचाव कार्य शुरु किया। दोपहर करीब साढ़े तीन बजे तक आग पर काबू पाया। बताया जा रहा है कि इस गोदाम के समीप ही एक पेट्रोल पंप भी था। गनीमत रही कि पेट्रोल पंप तक आग की लपटें नहीं पहुंची। वरना बड़ा हादसा होता।


गौरतलब है कि आयशर कंपनी के चारपहिया वाहनों के अलावा सैकड़ों की संख्या में रॉयल इन्फील्ड कंपनी की बाइक काफी बड़े हिस्से में खड़ी रहती है। यहीं एक बड़े परिसर में पेंट हाउस बना हुआ था। जहां गाड़ियां तैयार की जाती है। इसके अलावा गाड़ियों के पुर्जे भी बनाए जाते है।
इसके अलावा सैकड़ों की संख्या में हेलमेट भी पैकिंग कर रखे हुए थे। पेंट हाउस में केमिकल पदार्थ भी रखा हुआ था। जानकारी के अनुसार वहां मौजूद सिक्यूरिटी गार्ड की यूनिफार्म पर आयशर कंपनी का आईडी कार्ड था। बताया जा रहा है कि यहां आयशर कंपनी का काम पहले बंद हो गया था। इसके बाद यहां काफी वक्त से रॉयल इन्फील्ड की मोटरसाइकिलें तैयार की जा रही थी।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम