dainikreporters
जयपुर

आतंकवाद पर देश ने दिखाई एकजुटता:गहलोत

जयपुर।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज आतंकवाद नासूर बन चुका है। पुलवामा हमले के बाद देश में आक्रोश है। हमारा मार्ग शांति और सद्भाव का है, लेकिन पुलवामा हमले जैसे नापाक इरादों को कुचलने के लिए हमारे जवान हर क्षण तत्पर और सतर्क  हैं। पुलवामा हमले के बाद देश ने एकजुटता का परिचय देकर पूरी दुनिया को संदेश दिया है। यही एकजुटता भारत की खूबी है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तानी फौज के साहस का उदाहरण बांग्लादेश के रूप में सामने है। मुख्यमंत्री गुरुवार को बीकानेर जिले के खाजूवाला चैक पोस्ट पर सीमा सुरक्षा बल के जवानों के साथ सेना प्रहरी सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि सीमा पर प्रहरी बनकर मजबूती से खड़े सैनिकों के साहस, देश के प्रति समर्पण और बलिदान पर प्रदेशवासियों को गर्व है। सैनिक कठिनतम परिस्थितियों में देश की सीमाओं को महफूज रखते हैं। वे सैनिकों के इस जज्बे को सलाम करते हैं। उन्होंने कहा कि आतंकी हमलों के खतरे हो या शांति के समय चौकसी का काम,जवानों के त्याग से ही हम सुरक्षित हैं और दुश्मनों को हर मोर्चे पर मात देने में सफल हुए हैं। सैनिकों के बलिदान से उनके परिजनों पर क्या गुजरती है? इसका राज्य सरकार को पूरा अहसास है। एक जवान के शहीद होने की पीड़ा क्या है? इसे प्रदेश की सरकार और जनता भलीभांति समझती है। इसी कारण सरकार ने शहीदों के परिजनों को मिलने वाले पैकेज में बढ़ोतरी की है।
सेना दुश्मन को जवाब देने में सक्षम
गहलोत ने कहा कि राज्य के शेखावाटी, मेवाड़, मारवाड़़, भरतपुर और अलवर सहित सभी क्षेत्र वीरों की गाथाओं से भरे हैं। ऐसे हजारों परिवार हैं जो अपने सपूत खोने के बावजूद राष्ट्र सेवा के लिए तत्पर हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सेनाएं दुश्मन को जवाब देने में सक्षम हैं। सेना के त्याग, बलिदान और शौर्य का कोई मुकाबला नहीं है। मुख्यमंत्री ने जवानों से मुलाकात की और उनके साथ नाश्ता किया। उन्होंने अपने हाथों से जवानों को नाश्ता परोसा।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर खाजूवाला स्थित सीमा सुरक्षा बल कैम्पस में आरओ और अन्य सुविधाओं के लिए 11 लाख रुपए देने की घोषणा की।
बीकानेर में बनेगा शहीद स्मारक
मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीदों के सम्मान में बीकानेर में 20 लाख रुपए की लागत से शहीद स्मारक बनाया जाएगा। इसके लिए जमीन आवंटित कर दी गई। जल्द ही इसका निर्माण शुरू किया जाएगा। सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने शहीदों की विधवाओं और शौर्य चक्र विजेताओं को आवंटित भूमि के खातेदारी अधिकार भी प्रदान किए। बीएसएफ के डीआईजी  यशवंत सिंह ने कहा कि राज्य सरकार ने पहले भी जवानों को अपेक्षित सहयोग दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार की  हौसला अफजाई उन्हें और सतर्कता से काम करने के लिए प्रेरित करेगी।
किसानों और नौजवानों को सम्बल प्रदान करना प्राथमिकता
गहलोत ने कहा कि गुड गवर्नेंस के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। किसान और नौजवानों को सम्बल प्रदान करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। गत दो माह में किसानों और युवाओं के हित में महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। कर्जा माफी, पेंशन और बेरोजगारी भत्ते में बढ़ोतरी की गई है। सूखा प्रभावित क्षेत्रों में राहत के लिए कार्य शुरू कर दिए गए हैं। दुग्ध उत्पादकों को दो रुपए प्रति लीटर अनुदान देना प्रारम्भ किया है। गहलोत  खाजूवाला में ग्रामीणों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश वासियों के कल्याण के लिए केन्द्र सरकार से संसाधन जुटाने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति को मिले, इसके लिए ग्राम रक्षक नियुक्त किए जाएंगे। ये ग्राम रक्षक ग्रामीणों को योजनाओं की जानकारी उपलब्ध करवाएंगे। ऐसे 40 हजार ग्राम रक्षक नियुक्त किए जाएंगे।
liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *