में भाजपा विधायक हूँ लेकिन भाजपा से सबंध नही है मेरा

जयपुर। भाजपा विधायक घनश्याम तिवाडी ने कहा है कि अब प्रदेश भाजपा में रहना अब पाप है। भाजपा से अब उनका कोई संबंध नहीं है। तिवाडी के इस बयान को उनके पार्टी छोडऩे के रूप में देखा जा रहा है। हालांकि तिवाडी ने अब तक भाजपा से इस्तीफा नहीं दिया है।

बुधवार को यहां अपने निवास पर प्रेसवार्ता के दौरान तिवाडी ने बताया कि वे फिलहाल तकनीकी रूप से भाजपा विधायक है किन्तु नैतिक रूप से भाजपा में नहीं है। उनके साथ मारपीट की घटना के बाद वे पार्टी से अलग हो गए हैं।

भाजपा में प्रदेशाध्यक्ष पद को लेकर हुए विवाद के सवाल पर तिवाडी ने कहा कि केन्द्रीय नेतृत्व प्रदेश के नेताओं का नाम आगे कर उनका अपमान करवाता है और बाद में मु यमंत्री वसुंधरा राजे जिसके लिए कहती है उसे प्रदेशाध्यक्ष बना देता है। नई पार्टी के सवाल पर उनका कहना था कि भाजपा के 70 प्रतिशत कार्यकर्ता और पदाधिकारी उनकी नई पार्टी में शामिल हो जाएंगे। इस दौरान भाजपा विधायक ने मु यमंत्री वसुंधरा राजे और पूर्व मु यमंत्री अशोक गहलोत से सरकारी बंगला खाली करने की मांग की। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में जो आदेश दिया है वह पूरे देश के लिए लागू है ऐसे में अब सीएम को 13 नंबर खाली कर सरकारी निवास 8 सिविल लाइन में शि ट हो जाना चाहिए।

https://youtu.be/McmTncOLIks

सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की पालना करवाने के लिए दीनदयाल वाहिनी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी गुरूवार को सिविल लाइन फाटक पर प्रदर्शन करेंगे साथ ही अगले 10 दिनों तक जिला स्तर पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।