अगर आपके पास भी Fastag है तो 31 जनवरी तक कर ले यह कार्यवाही नहीं तो

Dr. CHETAN THATHERA
2 Min Read

जयपुर/ भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने स्वचालित टोल संग्रह प्रणाली की कार्य क्षमता बढ़ाने और यात्रियों को उनकी यात्रा सुगम बनाने के उद्देश्य से एक नई पहल का शुभारंभ एक बार एक फास्ट ट्रैग ( Fastag ) का शुभारंभ किया है इस माह के अंत तक अर्थात 31 जनवरी 2024 के बाद अपूर्ण केवाईसी वाले फास्ट टैग को बैंकों द्वारा निष्क्रिय और ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा ।

देश में वर्तमान में लगभग 8 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ फास्ट टैग देश में लगभग 98% वाहन चालकों के पास है और स्वचालित टोल संग्रहण प्रणाली मैं क्रांति ला दी है । भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की नई पहले एक बार एक फास्ट टैग का उद्देश्य यात्रियों को टोल संग्रह पर पर कई बार वाहन मालिक द्वारा या वाहनधारियों द्वारा फास्ट टैग को कभी-कभी जानबूझकर वाहन की विंडस्क्रीन पर नहीं लगाया जाता है ।

जिसके परिणाम स्वरुप टोल प्लाजा पर आवश्यक देरी होती है तथा कई वाहन धारी अलग-अलग बैंकों से फास्टटैग लेकर उसको रख लेते हैं इस तरह की शिकायतों को मध्य नजर रखते हुए यह नहीं पहल की गई है ।

प्राधिकरण फास्ट टैग उपयोगकर्ताओं को भारतीय रिजर्व बैंक के दिशा निर्देशों के अनुसार केवाईसी अपडेट करके अपने नवीनतम फास्ट टैग की अपने ग्राहक को जाने( केवाईसी) प्रक्रिया को पूरा करने के लिए भी प्रोत्साहित कर रहा है तथा बकाया धनराशि के साथ अपूर्ण केवाईसी वाले फास्ट टैग को 31 जनवरी 2024 के बाद बैंकों द्वारा निष्क्रिय और ब्लैक लिस्टस्टेट कर दिया जाएगा ।

इसलिए उपयोगकर्ताओं को इस असुविधा से बचने के लिए 31 जनवरी 2024 से पहले पहले अपने फास्ट टैग की केवाईसी को पूर्ण कर लें यही नहीं पहले एक वाहन एक फास्ट टैग की भी अनुपालन करना होगा और अपने संबंधित बैंकों के माध्यम से पहले जारी किए गए सभी फास्ट टैग को छोड़ना होगा तथा नवीनतम फास्ट टैग खाता सक्रिय रहेगा और जो इस आदेश का उल्लंघन करेगा उसे परेशानी उठानी पड़ेगी ।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम