IAS
जयपुर राजस्थान

राजस्थान में गहलोत सरकार के खिलाफ IAS अधिकारियों ने खोला मोर्चा, दी चेतावनी

जयपुर/ राजस्थान में भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों (IAS) ने बीकानेर कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल के साथ हुए दुर्व्यवहार की घटना को लेकर अब वित्त मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए सरकार से मंत्री के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर कार्यवाही नहीं होने पर कार्य के बहिष्कार की चेतावनी दी है। राजस्थान में 25 साल बाद इस तरह का माहौल एक बार फिर मंत्री के खिलाफ उपजा है।

विदित है की गहलोत सरकार में कैबिनेट पंचायती राज मंत्री रमेश चंद्र मीणा ने बीकानेर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भरे कार्यक्रम के बीच बीकानेर कलेक्टर को फोन पर बात करते हुए देख कर नाराज होकर कार्यक्रम से बाहर निकल जाने का मंच से ही माइक पर बोल दिया था और मंत्री के मंच इस तरह बोलने के बाद कलेक्टर कलाल कार्यक्रम से उठ कर चले गए थे ।

जबकि वास्तविकता यह थी कि जिला कलेक्टर कलाल गहलोत सरकार के ही मंत्री भंवर सिंह का फोन आने पर उनसे बात कर रहे थे।

बड़े कार्यक्रम के बीच एक आईएएस अधिकारी को इस तरह से बेइज्जत कर निकालने की घटना को लेकर राजस्थान के आईएएस अधिकारियों में आक्रोश व्याप्त हो गया था और घटना के दूसरे ही दिन आईएएस अधिकारियों की एसोसिएशन ने मुख्य सचिव उषा शर्मा से मिलकर इस घटना की निंदा करते हुए मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

सूत्रों के अनुसार आज एक बार फिर आईएएस अधिकारियों की स्टेशन में दूसरी बार मुख्य सचिव उषा शर्मा से मुलाकात कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मंत्री मीणा के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

ईश्वर ने स्पष्ट कहा है कि ऐसे माहौल में काम करना असंभव है आईएएस अधिकारियों के समर्थन में आईपीएस और आईएएस एसोसिएशन भी उतर आई है इस तरह दोनों एसोसिएशन में मंत्री रमेश मीणा के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने के लिए मुख्य सचिव को पत्र दिया है पत्र में स्पष्ट कहा है कि अगर एक-दो दिन में इस मामले में मंत्री मीणा के खिलाफ कार्यवाही नहीं होती है तो अधिकारियों में आक्रोश पड़ेगा और ऐसे हालात में कार्य करना संभव नहीं हो पाएगा।

राजस्थान में किसी मंत्री के खिलाफ 25 साल बाद आईएएस अधिकारियों की एसोसिएशन लामबंद होकर पुत्री है इससे पहले 1995-96 मे तत्कालीन भैरों सिंह शेखावत की सरकार में हुआ जब सिंचाई मंत्री देवी सिंह भाटी ने आईएएस अधिकारी पीके देव के थप्पड़ ही नहीं मार आवरण उनकी पिटाई तक कर दी थी।

तब इस मामले ने काफी तूल पकड़ा था और इस विवाद के चलते और आईएएस अधिकारियों की एसोसिएशन के दबाव को देखते हुए मंत्री भाटी को मुख्यमंत्री शेखावत ने मंत्री पद से हटाना पडा था ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम