राज्य के कई जिलो मैं भारी तबाही, अंधड ने ली 35 जान, दो मृतक यूपी के, प्रदेश के आपदा राहत के तहत मिलेगा मुआवजा: कटारिया

जयपुर, भरतपुर ।प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में बुधवार देर शाम आए अंधड ने भारी तबाही मचाई है। अंधड के कारण भरतपुर, अलवर और धौलपुर जिले काफी प्रभावित हुए हैं। तबाही के बाद राज्य सरकार ने राहत कार्य शुरू कर दिए हैं। इस कडी में आपदा राहत के तहत पीडितों को मुआवजा देने की घोषणा की गई है। यह बात आपदा राहत मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने गुरुवार को भाजपा मुयालय में प्रेसवार्ता के दौरान कही । उन्होंने कहा कि अंधड के कारण भरतपुर में 17,अलवर में 9 और धौलपुर में 9 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा यूपी के आगरा में भी धौलपुर के दो लोगों की मौत हो गई है। धौलपुर में दो लोग यूपी के थे, उन्हें यूपी सरकार की ओर से मुआवजा दिया जाएगा। अन्य सभी 35 मृतकों को नियमानुसार 4-4लाख रुपए मुआवजे के रूप में दिए जाएंगे।

प्रभारी मंत्री ने स्थिति की जानकारी ली

प्रभारी मंत्री कालीचरण सराफ ने भरतपुर मैं कल देरशाम आए चक्रवर्ती तूफ़ान से जान माल की हानि हुई वो देखी  और विधायक विजय बंसल के साथ अस्पताल जाकर मरीजो से कुश्चेम पूछी.

हाल ही में माना प्राकृतिक आपदा

कटारिया ने बताया कि राष्ट्रीय प्राकृतिक आपदा राहत नियमों के तहत हाल ही में अंधड और आंधी को प्राकृतिक आपदा के रूप में शामिल किया गया है। अब अंधड से प्रभावित लोगों को आपदा राहत के तहत मुआवजा राशि दी जाएगी। नियमानुसार मृतक को 4 लाख, गंभीर घायल को दो लाख तथा अस्पताल में भर्ती होने वाले पीडितों को भी मुआवजा दिया जाएगा। इसके अलावा जिन लोगों के मकान अंधड में ध्वस्त हो गए हैं उन्हें भी सहायता राशि दी जाएगी। इसके चलते गुरूवार सुबह ही भरतपुर को एक करोड,  अलवर के लिए 65 लाख और धौलपुर के लिए 85हजार की राशि संबंधित जिलों के कलेक्टर के पास ट्रांसफ र कर दी गई है।

205 लोग हुए घायल

कटारिया ने बताया कि जिला कलेक्टरों से मिली जानकारी के अनुसार तीनों जिलो में अंधड के कारण 205 लोग घायल हुए और लगभग 100 की संया में पशुधन की क्षति हुई है। उन्होंने अंधड से जनसाधारण को हुए नुकसान पर गहरी संवेदना भी जताई। राज्य सरकार ने पीडितों को राहत पहुंचाने और कार्यों की समीक्षा के लिए धौलपुर में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री अरूण चतुर्वेदी, भरतपुर में उच्च शिक्षा मंत्री कालीचरण सराफ और अलवर में सामान्य प्रशासन मंत्री हेमसिंह भडाणा को मौके पर भेजा है।