गुर्जर आरक्षण : दस घंटे की वार्ता के बाद 16 मांगों पर सहमति, गुर्जर आंदोलन स्थगित    

  जयपुर। राज्य सरकार और गुर्जर समाज के बीच शनिवार को करीब दस घंटे के दौरान दो दौर की वार्ता के बाद 16 मांगों पर सहमति बनी। इसमें सरकार ने गुर्जर समाज की प्रत्येक मांग को निश्चित समय सीमा में पूरा करने का भरोसा दिया। साथ ही रोहिणी कमेटी की रिपोर्ट का अध्ययन कर इस …

गुर्जर आरक्षण : दस घंटे की वार्ता के बाद 16 मांगों पर सहमति, गुर्जर आंदोलन स्थगित     Read More »

May 19, 2018 5:49 pm

 

जयपुर। राज्य सरकार और गुर्जर समाज के बीच शनिवार को करीब दस घंटे के दौरान दो दौर की वार्ता के बाद 16 मांगों पर सहमति बनी। इसमें सरकार ने गुर्जर समाज की प्रत्येक मांग को निश्चित समय सीमा में पूरा करने का भरोसा दिया।

साथ ही रोहिणी कमेटी की रिपोर्ट का अध्ययन कर इस पर निर्णय करने की मंशा जताई। इसके बाद गुर्जर समाज ने 23 मई से प्रस्तावित आंदोलन को फिलहाल स्थगित कर दिया है।

वार्ता के बाद मंत्रिमंडलीय उप समिति में शामिल पंचायती राज मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड़ और गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिजित के कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला ने संयुक्त रूप से पत्रकारों को समझौते की जानकारी दी। मंत्री राठौड़ ने साफ तौर पर कहा कि सरकार गुर्जर समाज की मांगों को लेकर गंभीर है। सरकार ने समाज की हर मांग पर समय सीमा तय की है। इसके तहत सरकार हर मांग पर निश्चित समय सीमा में आदेश जारी करेगी। वहीं अन्य पिछड़ा वर्ग के वर्गीकरण के लिए केन्द्र सरकार ने रोहिणी कमीशन बना रखा है। राजस्थान अन्य पिछड़ा आयोग की ओर से 4 जून को इस कमीशन के समक्ष अपनी रिपोर्ट पेश करेगा। रोहिणी कमीशन की रिपोर्ट आने पर सरकार इसका अध्ययन कर निर्णय करेगी।

गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला ने कहा कि सरकार के साथ अच्छे माहौल में वार्ता हुई है। हमर मांग पर चर्चा हुई है और हमें खुशी है कि हमें सही समय पर हमारा हक मिल गया है। सरकार ने कई अन्य अच्छी सुविधाएं दी है। अब आंदोलन स्थगित हो गया है। 23 मई को अब सिर्फ श्रद्धांजलि सभा होगी।

गौरतलब है कि गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर हाल ही 15 मई को गुर्जर समाज ने अड्डा गांव में महापंचायत बुलाई थी। इसके बाद सरकार ने महापंचायत से पहले गुर्जर समाज के प्रतिनिधिमंडल को वार्ता के लिए बुलाया था।

इस पर महापंचायत से पहले गुर्जर समाज के प्रतिनिधिमंडल की 14 मई को जयपुर में सचिवालय में राज्य सरकार के चार मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों से वार्ता का लंबा दौर चला था। इस वार्ता में गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला शामिल नहीं हुए थे।

Prev Post

1 जून से आरयू के कॉलेजों के लिए एडमिशन प्रकिया

Next Post

प्रदेश मैं अटकी 54 हजार शिक्षकों की भर्ती, 8 लाख अभ्यर्थियों को परिणाम का इंतजार

Related Post

Latest News

गहलोत पर पायलट का तंज सत्ता के बावजूद गजेंद्र सिंह के सामने चुनाव क्यों हारे ?
सचिन पायलट का मुख्यमंत्री पर पलटवार, पायलट ने दिया मुख्यमंत्री के आरोपों पर बड़ा बयान, मुख्यमंत्री ने पहले भी नकारा निक्कमा बोला,
प्रशिक्षु 79 आईएएस अधिकारियों को फील्ड प्रशिक्षण के लिए जिले आवंटित

Trending News

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कल से 3 दिवसीय प्रवास पर रहेंगे जोधपुर
शिक्षा विभाग- राष्ट्रीय शिक्षा नीति 6 हजार शिक्षकों को प्रशिक्षण 23 तक
भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर एक दिवसीय प्रवास 29 को भीलवाड़ा में
प्रशासन शहरों के संग अभियान-- 15 जुलाई से अब हर वार्ड में लगेंगे शिविर, हर जिले मे 2-2 पर्यटन स्थल बनेंगे -- CS शर्मा

Top News

गहलोत पर पायलट का तंज सत्ता के बावजूद गजेंद्र सिंह के सामने चुनाव क्यों हारे ?
कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी के निजी सचिव पर रेप का आरोप, मामला दर्ज 
विश्वसनीयता, सकारात्मक, तथ्यात्मक और जिम्मेदारीपूर्ण पत्रकारिता की जरूरत -  मंत्री जाट, कलेक्टर मोदी, एस पी सिद्धू
सचिन पायलट का मुख्यमंत्री पर पलटवार, पायलट ने दिया मुख्यमंत्री के आरोपों पर बड़ा बयान, मुख्यमंत्री ने पहले भी नकारा निक्कमा बोला,
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कल से 3 दिवसीय प्रवास पर रहेंगे जोधपुर
शिक्षा विभाग- राष्ट्रीय शिक्षा नीति 6 हजार शिक्षकों को प्रशिक्षण 23 तक
हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर बोले कैबिनेट मंत्री महेश जोशी: 'गजेंद्र सिंह हों या कोई और सरकार गिराने के मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे'
प्रशिक्षु 79 आईएएस अधिकारियों को फील्ड प्रशिक्षण के लिए जिले आवंटित
अब राजस्थान में मिले यूरेनियम के भंडार,देश में प्रदेश बना शक्तिशाली
राजस्थान में आज से भीलवाड़ा , टोंक सहित कई जिलों मे बारिश का दौर,कहां-कहां जानें