गहलोत सरकार अविश्वास, षड्यंत्र, झूठ और भ्रम की सरकार : केन्द्रीय मंत्री शेखावत

फाइल फोटो - गजेंद्र सिंह ,शेखावत अशोक गहलोत

जयपुर। केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने मंगलवार को फोन टैपिंग मुद्दे के साथ राजस्थान में लगातार बढ़ रहे अपराधों को लेकर गहलोत सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि राजस्थान की गहलोत सरकार अविश्वास, षडय़ंत्र, झूठ और भ्रम की सरकार है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अब इस्तीफा दे देना चाहिए। केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की एक चैनल से बातचीत का वीडियो शेयर कर ट्वीट किया कि अविश्वास, षडयंत्र, झूठ और भ्रम-यह राजस्थान की कांग्रेस सरकार का सार है! राज्य की चौपट व्यवस्था इनकी इसी राजनीति की देन है।

केन्द्रीय मंत्री शेखावत का  ट्वीट 

एक अन्य ट्वीट में केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने कोटा की 16 वर्षीय किशोरी के साथ हुई गैंगरेप के समाचार की कतरन शेयर करते हुए लिखा कि यह घटनाएं अब सिर्फ समाचार नहीं है। मैं पूछता हूं कि इन बेटियों का क्या अपराध है? इनकी सुरक्षा, इनका न्याय कहां है? इनके अस्तित्व के प्रति इतनी लापरवाही क्यों? प्रतिदिन घटते ये अपराध राज्य की दुर्दशा का हाल है, लेकिन मुख्यमंत्री जी के पास कोई उत्तर नहीं! विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने भी राज्य में बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर गहलोत सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने लिखा कि हैवानियत और दरिंदगी! किस पथ की ओर जा रहा है राजस्थान? कांग्रेस राज में महिलाएं और बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। ऐसा कोई दिन नहीं जब महिलाओं पर होने वाली दरिंदगी की घटनाएं सामने नहीं आती। अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। वह हर रोज प्रदेश के कानून व्यवस्था की परतों को उधेड़ रहे हैं।

उन्होंने लिखा कि कोटा की 15 साल की बच्ची को झालावाड़ ले जाकर 9 दिनों तक 18 से ज्यादा दरिंदों ने अनगिनत बार दुष्कर्म किया। हैवानियत और दरिंदगी की सारी हदें पार करने वाली यह घटना प्रदेश में महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा के दावे करने वाली सरकार की पोल स्वत: ही खोल रही है।