गहलोत के खास सिपहसालार धारीवाल का पायलट पर निशाना, ‘जिंदा रहने के लिए मीडिया में खबरें छपवाते हैं’

2023 का चुनाव मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा ,पंजाब जैसे हालात राजस्थान में नहीं होंगे ,कांग्रेस आलाकमान और विधायक सभी चाहते हैं कि मुख्यमंत्री कंटिन्यू सीएम रहे

April 30, 2022 8:22 pm
Gehlot's special warlord Dhariwal targets the pilot, 'publishes news in the media to stay alive'

जयपुर। प्रदेश में मुख्यमंत्री बदलने को लेकर चल रही अटकलों के बीच एक बार फिर से अशोक गहलोत खेमे और सचिन पायलट खेमे के बीच बयानबाजी का दौर तेज हो गया है। पहले जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मुख्यमंत्री बदलने की अटकलों को खारिज कर चुके हैं और इन्हें अफवाह करार दे चुके हैं तो वहीं अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खास सिपहसालार शांति धारीवाल ने भी आज अपने दिल्ली दौरे के दौरान बड़ा बयान देते हुए इशारों ही इशारों में पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट पर निशाना साधा है।

 

 

सीएम बदलने की चर्चाओं के सवाल पर शांति धारीवाल ने कहा कि कुछ लोग जिंदा रहने के लिए मीडिया में खबरें छपवाते रहते हैं ताकि जिंदा रह सके। हालांकि धारीवाल ने पायलट का सीधे तो नाम नहीं लिया लेकिन उनका इशारा कहीं न कहीं सचिन पायलट की तरफ ही था।

गहलोत के नेतृत्व में लड़ा जाएगा 2023 का विधानसभा चुनाव

शांति धारीवाल ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान और विधायक सभी चाहते हैं की अशोक गहलोत कंटिन्यू सीएम रहे और सौ फ़ीसदी 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा किसी और का सवाल ही नहीं उठता।

पंजाब जैसी स्थिति राजस्थान में नहीं

एक सवाल के जवाब में शांति धारीवाल ने कहा कि पंजाब जैसी स्थिति राजस्थान में नहीं होगी क्योंकि यहां पर ऐसा कोई नहीं है जो ऐसी स्थिति पैदा कर सकें यहां केवल मुख्यमंत्री अशोक ही हैं।

आलाकमान सब से मिलते हैं

इधर सचिन पायलट की कांग्रेस आलाकमान से हो रही लगातार मुलाकात को लेकर भी शांति धारीवाल ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान को सबसे मिलते हैं और सबको साथ लेकर चलने की कोशिश आलाकमान की रहती है इसे नेतृत्व परिवर्तन से जोड़कर नहीं देखा जाए।

तेज होगा बयानबाजी का दौर

बताया जा रहा है कि अशोक गहलोत के बाद उनके खास सिपहसालार शांति धारीवाल की ओर से दिए गए बयान के बाद अब सचिन पायलट कैम्प भी पलटवार करने की तैयारी में है। गौरतलब है कि इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सीएम बदलने की अटकलों को खारिज करते हुए कहा था कि मेरा इस्तीफा तो परमानेंट सोनिया गांधी के पास है वह जब चाहेंगे इस्तीफा हो जाएगा और जब इस्तीफा होगा तो किसी को कानों कान खबर भी नहीं होगी। साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दावा किया था कि वह राजनीति में सबसे मजबूत है इसलिए तीसरी बार सीएम बने हैं।

Prev Post

ईद की नमाज सुबह साढ़े 8 बजे होगी

Next Post

शिक्षा का मंदिर फिर शर्मसार, छात्राओं से दो शिक्षक करते अश्लील हरकते, ग्रमीणों ने की ...

Related Post

Latest News

कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..
गहलोत को CM हटाते ही राजस्थान में कांग्रेस खंड-खंड बिखर ...

Trending News

राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान
प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 

Top News

कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..
गहलोत को CM हटाते ही राजस्थान में कांग्रेस खंड-खंड बिखर ...
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान 
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान
टोंक के बनेठा थाने का एसआई 10 हज़ार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एक प्रकरण में कार्रवाई नही करने की एवज में मांग रहा था घूस
REET - 2022 का परीक्षा परिणाम घोषित 
राजस्थान में रहेगा गहलोत का ही राज, सचिन..