जयपुर राजस्थान

गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज

जयपुर / कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के होने वाले चुनाव और राजस्थान में मुख्यमंत्री बदलाव को लेकर कांग्रेसमें मचा घमासान का पटाक्षेप अभी तक नहीं हो पाया है इसी बीच कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए आज दिग्गी राजा मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने नामांकन लिया है और वह कल दाखिल करेंगे दूसरी और अब गहलोत के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव लड़ने की संभावनाएं क्षीण है । गहलोत अभी आलाकमान से मिलने पहुंचे हैं और अनुशासन समिति की बैठक होने वाली है जिसमें शाम तक बड़ा निर्णय निकल कर सामने आ सकता है।

कांग्रेस में मचे इस घमासान और राजस्थान में मुख्यमंत्री परिवर्तन के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा अप्रत्यक्ष और उनके समर्थक विधायकों व मंत्रियों द्वारा आलाकमान के आदेश से खुली बगावत कर देने के बाद आलाकमान का देशभर में अपमान हुआ है ।

सोनिया गांधी ने इस अपमान को लेकर मैं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत काफी खफा है और इसी बीच आज आलाकमान के आदेश पर ही मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री तथा गांधी परिवार के खासम खास दिग्गी राजा दिग्विजय सिंह ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए नामांकन लिया है और वह कल अपना नामांकन दाखिल कर देंगे इसी के साथ यह स्पष्ट संकेत मीडिया से बातचीत में दिग्विजय सिंह ने कहा कि वह कल राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करेंगे।

इससे संकेत हो गया है कि अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे या यूं कहें तो अतिशयोक्ति नहीं होगी कि राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव की दौड़ से आलाकमान की नाराजगी के कारण वह बाहर हो गए हैं।

गहलोत नही चाहते थे..

हालांकि अशोक गहलोत स्वयं यही चाहते थे कि वे राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ें और राजस्थान की मुख्यमंत्री बने रहे ।

10 जनपथ पहुंचे गहलोत

उधर दूसरी ओर गहलोत आलाकमान सोनिया गांधी से मिलने के लिए कल शाम को ही जयपुर से दिल्ली पहुंच गए थे और अभी कुछ समय पहले ही वह सोनिया गांधी से मुलाकात के लिए उनके 10 जनपद आवास पर पहुंचे हैं जहां वे उनसे मुलाकात कर अपना पक्ष रखेंगे इसे यूं कहें तो अतिशयोक्ति नहीं होगी कि अशोक गहलोत अपनी सफाई देकर आलाकमान यह नाराजगी दूर करने का प्रयास करेंगे।

राजस्थान को लेकर शाम तक बडा निर्णय ?

आलाकमान सोनिया गांधी ने राजस्थान के इस घटनाक्रम को लेकर आज अनुशासन समिति की बैठक भी बुलाई है इस अनुशासन समिति की बैठक में समिति के अध्यक्ष ए के एंटोनी और स्वयं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी मौजूद रहेंगे इस बैठक मैं बड़ा निर्णय लिया जाएगा ऐसी संभावनाएं जताई जा रही है और इसी के साथ यह भी संभावनाएं बताई जा रही है कि इस बैठक के बाद राजस्थान कॅ लेकर कुछ बड़ा निर्णय शाम तक हो सकता है ।

मीडिया से हुए रूबरू, मुझे पिछले 50 साल में कांग्रेस परिवार ने इंदिरा के समय से भी मेरे पर विश्वास किया। मैं पीसीसी चेयरमैन रहा या एसीसी का महामंत्री सोनिया जी का आशीर्वाद से तीसरी बार मुख्यमंत्री बना हूं। जो घटना 2 दिन पहले हुई वह घटना मैंने सोनिया जी से सॉरी फील किया है माफी मांगी है। हमेशा से हमारे यहां एक कि एक लाइन का फैसला होता है।

मैं एक मुख्यमंत्री होने के बावजूद भी एक लाइन का प्रस्ताव पहली बार वह परंपरा के अंतर्गत नहीं हो पाया जिस का दुख मुझे जिंदगी भर रहेगा। सोनिया जी सर सॉरी फील किया है। देखिए यह घटना जो हुई है इस घटना ने कई तरह के मैसेज दिए। मीडिया ने भी अपने हिसाब कवरेज दिया।

राहुल गांधी एक अच्छा कदम उठा रहे हैं मैंने उनसे जाकर उनको अध्यक्ष बनने की इच्छा व्यक्त की। उन्होंने मना किया कि मैं चुनाव नहीं लडूंगा मुख्यमंत्री का फैसला सोनिया गांधी करेंगी

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम