हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर चार झुलसे, एक की मौत

ashok lahoty

Jaipur News : राजधानी के शिप्रापथ इलाके में त्रिवेणीनगर(Triveni nagar)के निकट सीताराम नगर बस्ती में देर रात को हाईटेंशन लाइन (Hightension line )की चपेट में आकर चार जने झुलस गए। सभी को तत्काल अस्पताल (Hospitel)ले जाया गया जहां एक व्यक्ति की मौत हो गई।

हादसे की बाद मुआवजे की मांग को लेकर दिनभर धरने-प्रदर्शन का दौर चलता रहा। शाम को जयपुर डिस्काम(Discom Jaipur) के अधिकारियों ने तीन अधिकारियों की कमेटी बनाने की घोषणा के बाद मामला शांत हुआ।

देर रात सीताराम कालोनी में रतन लाल देर रात मकान की छत पर काम कर रहा था। इस दौरान मकान के ऊपर से गुजर रही हाई टेंशन लाइन का करंट मकान में दौडने के कारण रतनलाल, उसकी पत्नी, पुत्र और पुत्री झुलस गए।

सभी को तत्काल जयपुरिया अस्पताल (Jaipuria Hospital)लाया गया जहां चिकित्सकों ने रतनलाल को मृत घोषित कर दिया तथा अन्य घायलों को इलाज के बाद घर भेज दिया।

रविवार सुबह मृतक के परिजनों ने जबरन अस्पताल से छुट्टïी किए जाने का आरोप लगाते हुए स्थानीय लोगों के साथ प्रदर्शन शुरू कर दिया और शव लेने से मना कर यिा।

इसकी जानकारी मिलने पर सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी(Ashok Lohoty) और शहर भाजपा अध्यक्ष मोहनलाल गुप्ता(Mohan Lal Gupta) भी अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गए और मुआवजे की मांग को लेकर धरना शुरू कर दिया

। उनका कहना था कि मृतक के परिजनों को 5 लाख का मुआवजा दिया जाए और हाई टेंशन लाइन को वहां से हटाया जाए। प्रदर्शन की सूचना पर आसपास के थानों का जाब्ता और पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए।

इसके कुछ देर बाद ही कांग्रेस नेता अर्चना शर्मा(Arachana Sharma) और पुष्पेन्द्र भारद्वाज भी समर्थकों के साथ वहां पहुंच गए। उनके वहां पहुंचने दोनों दलों के नेताओं ने एक दूसरे पर इस मामले में राजनीति करने का आरोप लगाया। बाद में पुलिस अधिकारियों की समझाइश की।

इस दौरान डिस्काम अधिकारियों ने तीन सदस्यीय कमेटी बनाने की घोषणा की। जिसके बाद मामला शांत हुआ।

जयपुर डिस्काम (Jaipur Discom)ने हादसे की जांच के लिए अधिशाषी अभियंता राजेश गुप्ता, शहर वृत के कार्मिक अधिकारी ललित तथा डिस्काम के सर्तकता अधिकारी सोहेल रजा को मिलाकर तीन सदस्यीय कमेटी बनाई है।

यह कमेटी सात दिनों में पूरे मामले की रिपोर्ट सौंपेगी उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।