पूर्व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष परनामी को दुबई से मिली धमकी, पुलिस ने बढाई सुरक्षा

जयपुर। भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष और आदर्श नगर विधायक अशोक परनामी को वाट्सएप पर धमकी मिलने के मामले को पुलिस ने पहले हल्के में ले लिया। लेकिन जब पुलिस धमकी देने वाले की पड़ताल में जुटी तो उसने पुलिस को भी चुनौती दे दी और उसे तलाशने के तरीके को पुराना होना बताया, साथ में …

पूर्व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष परनामी को दुबई से मिली धमकी, पुलिस ने बढाई सुरक्षा Read More »

May 22, 2018 7:15 pm

जयपुर। भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष और आदर्श नगर विधायक अशोक परनामी को वाट्सएप पर धमकी मिलने के मामले को पुलिस ने पहले हल्के में ले लिया। लेकिन जब पुलिस धमकी देने वाले की पड़ताल में जुटी तो उसने पुलिस को भी चुनौती दे दी और उसे तलाशने के तरीके को पुराना होना बताया, साथ में कहा कि उसे पकडऩा है तो नया तरीका अपनाओ। मामले से जुड़ी एटीएस की पड़ताल में सामने आया है कि विधायक परनामी को धमकी यूएसए होते हुए दुबई से दी गई है। धमकी देने वाला कुख्यात होने की आशंका पर पुलिस ने विधायक परनामी के आवास और परिजनों की सुरक्षा किलेबंदी में तब्दील कर दी है। 17 पुलिसकर्मी उनकी सुरक्षा में लगाए गए हैं। एस्कॉट के अलावा घर के बाहर अस्थाई पुलिस चौकी खोल दी गई। हर परिजन को दो गनमैन दिए गए हैं। यहां तक की छत पर दो पुलिसकर्मी दिन रात दूरबीन से आस-पास के क्षेत्र की निगरानी में लगा दिए गए हैं। सड़क पर भी सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं। इनसे दिनरात पुलिसकर्मी निगरानी रखे हुए है। हालांकि एक पुलिस अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर यह जानकारी दी है। जबकि थाना पुलिस और अन्य अधिकारी इस संबंध में कुछ बोलने को तैयार नहीं हुए। इस संबंध में मोती डूंगरी थाने में मामला दर्ज किया गया है।

धमकी देने वाले ने पहले विधायक परनामी को रविवार को मैसेज किया और तीन दिन में मोटी रकम उलब्ध करवाने के लिए कहा। विधायक ने वाट्सएप मैसेज को अनदेखा कर दिया। इसके बाद सोमवार शाम को फिर मैसेज आया और उसमें लिखा परिवार के एक-एक सदस्य को खोने पर रुपयों की व्यवस्था करोगे। इसके बाद विधायक ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने पहले मामले को हल्के में लिया। लेकिन सोमवार दोपहर तक धमकी देने वाले की पहचान कुख्यात के तौर पर की गई तो अचानक विधायक परनामी के आवास की किलेबंदी कर दी गई। धमकी देने वाले ने मंगलवार शाम 5.35 बजे फिर मैसेज कर विधायक परनामी को कुछ क्षण शेष होना बताया। उसने वॉयस कॉल भी की, लेकिन विधायक परनामी ने फोन नहीं उठाया। मंगलवार शाम करीब साढ़े सात बजे तक धमकी देने वाला ऑन लाइन था। कुछ पुलिस अधिकारियों ने इतना जरूर बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए एटीएस-एसओजी और जयपुर कमिश्ररेट की पुलिस धमकी देने वाले तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

Prev Post

 मंगलवार का दिन सबसे गर्म रहा ,  भीषण गर्मी

Next Post

शराब पीने से टोका तो पति ने पत्नी को ठोक दिया

Related Post

Latest News

राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

ACB का धमाका - PHED का चीफ इंजीनियर और दलाल 10 लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार
जी 6 के विधायकों का गहलोत कैंप पर तीखा हमला, कहा- 'आलाकमान को आंख दिखाने वालों पर हो कार्रवाई'
मंत्री धारीवाल ने माकन के वक्तव्य पर किया पलटवार, माकन और आलाकमान को किया कटघरे में खड़ा
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए आ सकता है नया नाम, कौन, जानें पढ़े ख़बर 
राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज
राजस्थान के सियासी घटनाक्रम से नाराज कांग्रेस आलाकमान ने प्रभारी अजय माकन से मांगी रिपोर्ट
टोंक में सड़क हादसे में 4 की मौत, कोटा एलन कोचिंग के छात्र हरिद्वार घूमने निकले थे, बाड़ा तिराहे पर हुआ हादसा
राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा