जून में भी आसमान से झुलसाती गर्मी बरसना तय

जयपुर। जून के महीने में दिल्ली से लेकर पाकिस्तान तक आसमान से अंगारे बरसना तय है। मौसम वैज्ञानिक इसके लिए हवा में रोजाना घटरही नमी को जि मेदार मान रहे हैं जिसके चलते सामान्यतया 10 जून के आस पास शुरू होने वाली मानसून पूर्व हलचल इस बार सुस्त रहने का अंदेशा है। जिसके चलते तीन …

जून में भी आसमान से झुलसाती गर्मी बरसना तय Read More »

May 29, 2018 7:47 am

जयपुर। जून के महीने में दिल्ली से लेकर पाकिस्तान तक आसमान से अंगारे बरसना तय है। मौसम वैज्ञानिक इसके लिए हवा में रोजाना घटरही नमी को जि मेदार मान रहे हैं जिसके चलते सामान्यतया 10 जून के आस पास शुरू होने वाली मानसून पूर्व हलचल इस बार सुस्त रहने का अंदेशा है। जिसके चलते तीन जून को नौतपा खत्म होने के बावजूद झुलसाती गर्मी से राहत मिल जाए इसकी संभावना फिलहाल कम ही नजर आ रही है। मौसम विभाग के सूत्रों की मानें तो ग्लोबल वॉर्मिंग और लगातार बढ़ रहे वायु प्रदूषण के कारण जहां एक और औसत तापमान में बढ़ोतरी हो रही है वहीं दूसरी तरफ हवा में घट रही नमी अगले महीने मौसमी हलचलों को भी प्रभावित कर सकती है। मौसम विशेषज्ञों ने हवा में मौजूद नमी में हो रहे उतार चढ़ाव के कारण जून में शुरू होने वाले मानसून पूर्व की हलचल सुस्त रहने का अंदेशा जता दिया है। देश के पश्चिमोत्तर हिस्से यानि दिल्ली से लेकर पश्चिमी पाकिस्तान क्षेत्र में जून माह में भी भीषण गर्मी का दौर बने रहने और दिन में पारा 42 से 48 डिग्री सेल्सियस तक रिकॉर्ड होने की संभावना है। ऐसे में पश्चिमोत्तर हिस्सों में प्रदेश का उत्तर पश्चिमी इलाका भी इस बार जून माह में भट्टी की तरह तपने वाला है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मई— जून माह में हवा में 30 से 50 फीसदी नमी मौजूद रहती है। इस दौरान दक्षिण से आने वाली समुद्री हवाएं नमी बढ़ाती है जिसके असर से बादलों की आवाजाही और मेघगर्जन के साथ छिटपुट बारिश का दौर मई के अंत तक शुरू हो जाता है। लेकिन इस बार सतही गर्म हवाएं चलने व हवा का रुख उत्तर पश्चिमी रहने के कारण हवा में नमी घटकर 10 से 20 फीसदी ही दर्ज हो रही है जो गर्मी के तेवर तीखे करने में एक बड़ा कारण साबित हो रही है। बीते चौबीस घंटे में राजधानी समेत कई इलाकों में पारा 44 डिग्री व उसके पार रिकॉर्ड हुआ और सूर्योदय से लेकर देररात तक प्रदेश के अधिकांश इलाकों में झुलसाती गर्मी का दौर बना रहा। दोपहर होने तक ही राजधानी की सडक़ों पर सन्नाटा पसर रहा है तो देररात तक गर्म हवा के थपेड़ों से लोग बेहाल हैं। बीते चौबीस घंटे में मैदानी इलाकों में श्रीगंगानगर 47.1 डिग्री के साथ सबसे गर्म रहा वहीं जयपुर में अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री सेल्सियस रहा है। जयपुर में आज सुबह मौसम शुष्क रहा वहीं धूप की तपन सुबह से ही महसूस हो रही है। आज जयपुर के न्यूनतम तापमान में एक डिग्री बढ़ोतरी हुई और पारा 29.5 डिग्री रिकॉर्ड हुआ वहीं आज सुबह नौ बजे शहर का अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस छू गया। स्थानीय मौसम केंद्र ने आज शहर का अधिकतम तापमान 45 डिग्री व उसके आस पास रहने की संभावना जताई है। वहीं दूसरी तरफ मौसम केंद्र ने अगले 48 घंटे में पश्चिमी इलाकों में भीषण गर्मी के साथ धूलभरी हवाएं चलने का अंदेशा भी जताया है।

Prev Post

सूने मकान में ले जाकर नाबालिग से गैंगरेप, जहर पिला जान से मारने कोशिश

Next Post

सूदखोरों से परेशान व्यक्ति ने अपना सुसाइड का अजीब तरीका

Related Post

Latest News

उदयपुर घटना - भीलवाड़ा, टोंक व नागौर अजमेर में नेट बंद
राजस्थान में नुपूर शर्मा के समर्थक दर्जी की दूकान में घुस खुलेआम से नृशंस हत्या, आरोपियों ने किया वीडियों वायरल, नुपूर व पीएम मोदी को धमकी

Trending News

स्थापना दिवस पर देशवाली मदद फाउंडेशन ने कि शिक्षण सामग्री वितरित
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कल से 3 दिवसीय प्रवास पर रहेंगे जोधपुर
शिक्षा विभाग- राष्ट्रीय शिक्षा नीति 6 हजार शिक्षकों को प्रशिक्षण 23 तक

Top News

उदयपुर घटना - भीलवाड़ा, टोंक व नागौर अजमेर में नेट बंद
राजस्थान में नुपूर शर्मा के समर्थक दर्जी की दूकान में घुस खुलेआम से नृशंस हत्या, आरोपियों ने किया वीडियों वायरल, नुपूर व पीएम मोदी को धमकी
अधिकारी को नेता से जान का खतरा, Whatsaap पर शेयर किया दर्द 
सीएम गहलोत आज से 3 दिन अपने गृह जिले जोधपुर के दौरे पर, दो समुदायों के बीच दूरियां कम करने पर रहेगा फोकस!
स्थापना दिवस पर देशवाली मदद फाउंडेशन ने कि शिक्षण सामग्री वितरित
शिक्षा विभाग - संस्था प्रधान और शिक्षक होंगे सम्मानित,निदेशक अग्रवाल का नवाचार,और..
डॉक्टर व शिक्षक परिवार ने सामूहिक आत्महत्या नहीं की , हत्या की गई थी , दो गिरफ्तार 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बड़ी घोषणा, 'प्रदेश का अगला बजट युवा केंद्रित होगा'