Wednesday, February 1, 2023

शिक्षा विभाग- राजस्थान में 1 लाख से अधिक पद खाली, कैसे चलेगा काम

जयपुर/ राजस्थान में सरकारी विभागों में शिक्षा विभाग और चिकित्सा विभाग सर्वाधिक कार्मिकों की संख्या वाले विभाग माने जाते हैं इन दोनों विभागों में से शिक्षा विभाग में हालात यह है कि वर्तमान में विभिन्न पदों के करीब 100000 से अधिक पद खाली हैं ऐसे में शिक्षा विभाग के सफल संचालन और अच्छे परिणाम बेहतर क्रियान्वयन की उम्मीद बेनामी सी लगती है।

सरकार के 4 साल बीत जाने के बाद भी प्रदेश के सबसे बड़ी विभाग शिक्षा विभाग में 100000 पद अभी तक खाली पड़े हैं आखिर क्यों ?

सरकार और सरकार के किसी भी विभाग की उपलब्धि और उसके कार्य प्रणाली तथा सरकार की योजनाओं के सफल क्रियान्वयन और बेहतर परिणाम उस विभाग के अधिकारियों और कार्मिकों पर निर्भर करता है लेकिन यह तब संभव है जब उस विभाग में स्वीकृत अधिकारी व कार्यों को की संख्या बराबर हो ।

राजस्थान में सबसे बड़े विभाग के रूप में माने जाने वाले शिक्षा विभाग की हालत कुछ और ही है सरकार को 4 साल व्यतीत हो गए हैं लेकिन आज भी शिक्षा विभाग की स्थिति यह है कि उच्च अधिकारियों से लेकर निचले स्तर तक के अधिकारियों के विभिन्न पदों के करीब 100000 से अधिक पद खाली पड़े हैं ।

ऐसे में विभाग सरकार की योजनाओं का सफल क्रियान्वयन और बेहतर परिणाम तथा स्कूलों में समुचित शिक्षण व्यवस्था और स्कूलों में बेहतर कार्य की उम्मीद कैसे की जा सकती है ?

अधिकारियों और कार्मिकों को धन्य की ..

विभाग में 100000 से भी अधिक पद रिक्त होने के बाद भी विभाग के उच्च अधिकारियों से लेकर निचले स्तर तक के कार्मिकों की कार्यप्रणाली अपवाद को छोड़कर सभी कार्मिक और अधिकारियों की कार्य के प्रति लगन का ही नतीजा है कि शिक्षा विभाग देश में अपनी कार्यप्रणाली को लेकर अन्य राज्यों को पकड़ते हुए शीर्ष पर हैं ।

आ राजस्थान में शिक्षा विभाग के कुछ महत्वपूर्ण पदों की स्थिति इस प्रकार है।

प्रिंसिपल कुल पद 16380 है इनमें से 10074 पद भरे हुए हैं तथा 6286 पद अभी 20 खाली है और नया शैक्षणिक सत्र शुरू हो गए 6 माह हो गए हैं।

वाइस प्रिंसिपल के 12421 पद है इनमें से मात्र 2220 पद ही भरे हुए हैं और 10201 पद अभी भी खाली पड़े हैं।

व्याख्याताओं के 54167 पद हैं इनमें से 40966 पद भरे हुए तथा 13201 पद अभी भी खाली पड़े हैं।

वरिष्ठ शिक्षकों के 77447 पद कुल है इनमें से 57272 पद भरे हुए हैं तथा 20475 पद अभी भी खाली पड़े हैं तथा शिक्षकों के कुल 90906 पद है इनमें से 73976 पद भरे हुए हैं और 16930 पद अभी भी खाली पड़े हैं।

सरकारी स्कूलों और कार्यालयों में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के कुल 20643 पद स्वीकृत हैं इनमें से मात्र 6919 पद ही भरे हुए हैं और 10124 पद अभी भी खाली पड़े हैं।

इनके अलावा प्रशासनिक अधिकारियों के 226 पद खाली पड़े हैं । शारीरिक शिक्षक श्रेणी सेकंड के 2017 में पद खाली पड़े हैं अतिरिक्त प्रशासन अधिकारी के 1127 पद खाली पड़े हैं सहायक प्रशासनिक अधिकारी के 1764 पद खाली पड़े कनिष्ठ सहायकों के 1176 पद खाली पड़े हैं ।

इस तरह शिक्षा विभाग में निदेशक से लेकर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी तक कुल 336270 पद है इनमें से 228808 पद भरे हुए हैं और 109482 पद अभी भी खाली पड़े हैं ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/

Must Read

हिन्दुस्तान जिंक भूमिगत खनन में बैटरी चलित वाहन करेगा उपयोग,1 बिलियन अमरीकी डालर का निवेश, देश की पहला ग्रुप होगा

भीलवाड़ा/ देश में चांदी और तांबा उत्पादन में सबसे अग्रणी नंबर वन ग्रुप वेदांता ग्रुप हिंदुस्तान जिंक कंपनी भी पर्यावरण की सुरक्षा को मध्य...

अक्षय सेवा संस्थान द्वारा फ्री आंखो का शिविर 5 को

भीलवाड़ा / अक्षय सेवा संस्था द्वारा भीलवाड़ा में निशुल्क आंखों का कैंप 5 फ़रवरी रविवार को संस्था के मुख्य संरक्षक चंद्र देव आर्य के...

रेल सेवाएं रद्द,एक गाड़ी हमीरगढ़ व दूसरी रायला में होगा ठहराव

अजमेर/ पूर्व रेलवे द्वारा हावड़ा मण्डल के बर्द्धमान स्टेशन पर अनुरक्षण कार्य हेतु ट्रेफिक ब्लॉक लिया जा रहा है। इस कार्य हेतु रेल यातायात...