शिक्षा विभाग- उप -प्रधानाचार्य के कार्यों का निर्धारण आदेश, क्या-क्या होंगे कार्य जानें 

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read

जयपुर/ राजस्थान में शिक्षा विभाग हाल ही में सरकार द्वारा 12,000 से अधिक हाई सेकेंडरी स्कूलों में स्वीकृत किए गए उप प्रधानाचार्य के पदों को लेकर विभाग के शिक्षा (ग्रुप-1) विभाग ने एक आदेश जारी कर कार्यों का निर्धारण और पदों की स्वीकृति संख्या जारी की है।

 

शिक्षा(ग्रुप-1) उप शासन सचिव प्रथम भारतेंद जैन ने इस संबंध में शिक्षा निदेशक माध्यमिक बीकानेर को जारी दिशा निर्देश पत्र से अवगत कराया कि आपके पत्र क्रमांक शिविरा मा/ माध्यम/ अ-1/ 21310 / उप प्राचार्य/2022 दिनांक 19/6/2022 के क्रम में नव संवर्गित उप प्रधानाचार्य(एल-14) के 12430 पदों को निम्नानुसार प्रति विद्यालय पद सृजित किए जाने की स्वीकृति दी जाती है।

1-पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी(PEEO) 9852

2- शायरी संकुल पर भी शिक्षा अधिकारी((UCEEO) 

3- 275 से अधिक नामांकन वाले विद्यालय( क्रम संख्या एक एवं दो के अतिरिक्त) 2204

 

उप प्रधानाचार्य के दायित्व एवं कार्य निर्धारण इस प्रकार

 

1- कम से कम 18 कालांश प्रति सप्ताह का शिक्षण कार्य

2- प्राचार्य की अनुपस्थिति(पद रिक्त/ अवकाश/ यात्रा) की स्थिति में कार्यवाहक प्राचार्य के रूप में विद्यालय के संचालन के समस्त दायित्व का निर्वहन

3- नामांकन कार्य व नामांकन लक्ष्यों की पूर्ति एवं ठहराव सुनिश्चित करते हुए विद्यालय क्षेत्राधिकार में ड्रॉपआउट को शून्य स्तर पर लाना

4- प्रवेश संबंधी संपूर्ण प्रक्रिया का संचालन एवं प्रवेश संबंधी अभिलेख शाला दर्पण अपडेशन पूर्ण करवाना

5- विद्यालय समय सारणी (कक्षावार / शिक्षकवार) का निर्माण करना एवं उसकी पालना करवाना

6- विद्यालय योजना का निर्माण करना एसडीएमसी से अनुमोदन करवाना एवं उसकी पालना करवाना

7- प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्तर पर शिक्षा की गुणवत्ता के सुधार हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन एवं प्रबोधन

8- प्रतिमाह कक्षा शिक्षण एवं गृह कार्य का पर्यवेक्षण प्रति माह में प्रत्येक शिक्षक से के दो घोषित वेदोए घोषित

9- स्थानीय परीक्षा /सामयिक परखों का संचालन 

10- शिक्षकों की दैनिक डायरी का अवलोकन एवं सत्यापन

11- धूम्रपान निषेध अधिनियम(COTPA) के तहत विद्यालय परिसर में 100 मीटर परिधि के क्षेत्र में धूम्रपान मुक्त क्षेत्र बनाए रखने की शुद्धता एवं वृक्षारोपण स्वच्छ भारत सैनिटरी नैपकिन योजना शाला स्वास्थ्य कार्यक्रम का तथा अन्य स्वास्थ्य संबंधी कार्यों का अध्ययन प्रभारी रहेंगे तथा इन कार्यक्रमों के प्रावधानों को विद्यालय में लागू करने हेतु प्राचार्य का आवश्यक सहयोग प्रदान करना

12- कक्षा 5 8 10 एवं 12 की बोर्ड परीक्षा परिणाम उन्नयन हेतु कार्य योजना बनाना एवं उनके क्रियान्वित के लिए प्राचार्य का सहयोग करना

13- कक्षा 5 8 के परीक्षा परिणाम हेतु उत्तरदाई रहेंगे

14- विभाग द्वारा समय-समय पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं हेतु पूर्व तैयारी व उनके क्रियान्वयन का कार्य करना

15- विभिन्न अकादमिक प्रतियोगिताओं यथा विज्ञान मेला कला उत्सव बोर्ड सृजनात्मक प्रतियोगिताएं प्रतिभा खोज परीक्षाNMNS स्कॉलरशिप परीक्षा इंस्पायर अवार्ड वार्षिक उत्सव बालसभा एवं विभाग द्वारा समय-समय पर आयोजन निर्देशित विभिन्न गतिविधियों क्रियाकलापों इतिहास में विद्यालय के विद्यार्थियों की भागीदारी सुनिश्चित करना

16-मिड- -डे-मील के तहत पोषाहार वितरण संबंधी गतिविधियों का संचालन हेतु पदेन प्रभारी होंगे

17- विभाग द्वारा ऑनलाइन पोर्टल शाला दर्पण अपडेशन ऑनलाइन उपस्थिति छात्रवृत्ति पोर्टल एवं अन्य समस्त ऑनलाइन कार्य हेतु प्रभारी

18- जब विद्यालय दोपहर में संचालित है उन विद्यालयों में उप प्रधानाचार्य द्वितीय पारी जिस पारी में कक्षा पांचवी और आठवीं का संचालन किया जा रहा है के पदेन प्रभारी रहेंगे

19- विद्यालय के कार्मिकों शिक्षकों के आकस्मिक अवकाश स्वीकृत कर सकेंगे

20- SDMC के सदस्य के रूप में कार्य करते हुए बैठकों के आयोजन एवं उनमें पारित निर्णय की पालना व रिकार्ड संधारण का कार्य करना

21- प्राचार्य एवं उच्च अधिकारियों द्वारा समय-समय परसों पर गए समस्त कार्य करना

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम