महाकाल मंदिर में भस्म आरती के दौरान गुलाल से लगी आग 13 झुलसे,आरती का समय बदला

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read

जयपुर। देवों के देव महादेव की नगरी मध्य प्रदेश के उज्जैन मे स्थित महाकाल मंदिर मे आज सवेरे भस्म आरती के दौरान गुलाल से लगी आग से पुजारी सहित 13 जने झुलस गए ।

धार्मिक नगरी उज्जैन में स्थित महाकाल के मंदिर में आज होली के रंग में उसे समय भंग पड़ गया जब महाकाल की सवेरे होने वाली भस्म आरती के दौरान गर्भ ग्रह में गुलाल फेंक देने से आग लग गई इससे तेरा जाने झुलस गए जिनमें से करीब नौ जनों की हालत गंभीर बताई जा रही है। रंगों के त्योहार होली के दिन आज सवेरे महाकाल की भस्म आरती में अन्य दिनों की अपेक्षा बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे और महाकाल के संग होली मनाने पहुंचे थे और महाकाल को होली खिला रहे थे गर्भ ग्रह में भस्म आरती चल रही थी और पुजारी संजीव भस्म आरती कर रहे थे इसी दौरान पीछे से खड़े किसी श्रद्धालु द्वारा गुलाल फेंकी जो गुलाल जलते दीपक किलो से टकराई और आग लग गई इससे संभावनाएं जाता जा रही है कि गुलाल में कोई केमिकल ऐसा था जिसे आज बाधक गई और आग में विकराल रूप उसे समय और ले लिया जब महाकाल के गर्भ ग्रह में लगी चांदी की परत को गुलाल से बचने के लिए फ्लेक्स चारों तरफ लगाए गए थे इलेक्शन तत्काल आग पकड़ ली और आज जबरदस्त फैल गई इससे वह एक एक बार के लिए अफरा तफरी मच गई सेवादार और जागरूक श्रद्धालुओं ने तत्काल आग बुझाने वाले यंत्रों से आज पर काबू पाया तब तक तेरा से अधिक जानें जुलूस चुके थे घटना की सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर पुलिस अधीक्षक और अलग पुलिस अधिकारी व प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए तथा झुलसा हुए पुजारी और श्रद्धालुओं को तत्काल अस्पताल पहुंचाया

हिसाब से में पुजारी संजीव के अलावा चिंतामणि रमेश अंश शर्मा सत्यनारायण सोनी विकास शुभम मनोज शर्मा आनंद महेश शर्मा राजकुमार बेस सोनू राठौर मंगल कमल आदि सेवादार और श्रद्धालु भी जुलूस गए इन सबका उज्जैन के अस्पताल में उपचार चल रहा है इनमें से 9 जाने की हालत गंभीर होने से उन्हें इंदौर रेफर कर दिया गया है जिला कलेक्टर ने इस घटना को लेकर न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं और एक कमेटी बना कर तीन दिन में रिपोर्ट देने की दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं ।

उधर दूसरी ओर श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति के प्रशासक संदीप सोनी के अनुसार 26 मार्च से परंपरा के अनुसार ज्योतिर्लिंग की महाकालेश्वर भगवान की आर्तियां के समय में क्षेत्र कृष्ण प्रतिपदा से अश्विनी पूर्णिमा तक परिवर्तन होता है उसी के तहत कल मंगलवार से आरती की समय में भी परिवर्तन शुरू हो जाएगा जो प्रकार रहेगा।

भस्म आरती प्रातः 4:00 बजे से 6:00 बजे तक

वद्दोदक आरती प्रातः 7:00 से 7:45 तक बजे तक

भोग आरती प्रातः 10:00 बजे से 10:45

संध्या पूजन शाम 5:00 बजे से 5:45 तक

संध्या आरती शाम 7:00 बजे से 7:45 बजे तक

चयन आरती रात 10:30 बजे से 11:00 बजे तक

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम