24 घंटे की भीतर ही कर दिया सूटकेस में मिली लाश का खुलासा

षड़्यंत्र रचकर की गई थी दुष्यन्त की हत्या

फिरौती लेने के बाद पकड़े जाने के डर से कर दी हत्या

जयपुर। राजधानी के आमरे थाना इलाके में गुरुवार देर रात सूटकेस में मिली युवक की लाश का खुलासा पुलिस ने 24 घंटे के भीतर ही कर दिया है। फिरौती वसूलने के चलते युवक की हत्या की गई थी । पुलिस ने हत्या कर लाश को फेंकने के मामले में एक युवती समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है । पुलिस पूछताछ में कई चौकाने वाली बातें सामने आई है।

हत्या कर लाश सुतकेट में रखकर फेंकी

राजधानी में षड़्यंत्र रचकर फिरौती वसूलने के चलते दुष्यन्त नामक युवक की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है । ये पूरी घटना झोटवाड़ा थाना इलाके की है । जहां पेशे से ठेकेदार दुष्यंत की हत्या कर लाश को सूटकेस में रखकर कूकस इलाके में फेंका गया था ।

कुछ दिन पहले ही युवती के संपर्क में आया था

मृतक दुष्यंत ने कुछ दिनों पहले ही अपने मोबाइल पर टिंडर नामक एक एप्प डॉउनलोड की थी । इस एप के जरिए युवक आरोपी युवती प्रिया सेठ के संपर्क में आया । जिसके बाद दोनों के बीच मुलाकातें बढ़ती गई । युवती ने मृतक को अपने झांसे में लेकर बजाज नगर स्थित अपने फ्लैट पर मिलने बुलाया ।

https://youtu.be/f4Qv9eZ5Kbs

रेप का झूठा आरोप

जैसे ही दुष्यंत युवती के फ्लैट पर पहुंचा तो वहां पहले से ही मौजूद दो अन्य युवकों ने उस पर रेप का झूठा आरोप लगाते हुए 10 लाख रूपए की मांग की । लेकिन दुष्यंत ने खुद को बेगुनाह बताते हुए पैसे देने से इंकार कर दिया ।

पकड़े जाने के डर से कर दी हत्या

दुष्यंत द्वारा पैसे देने से इंकार करने के बाद फ्लैट पर मौजूद दिक्षांत कामरा और लक्ष्य वालिया ने उसे पकड़कर उसके परिजनों को अपहरण करने और छोड़ने की एवज में 10 लाख रूपए की मांग की  । वहीं आरोपी युवती प्रिया सेठ ने दुष्यंत के एटीएम से 20 हजार रूपए की रकम भी निकाल ली । खौफ के चलते परिजनों ने अपहरणकर्ताओें के बताए अनुसार बैंक खाते में कुछ पैसे भी डाल दिए । लेकिन आरोपियों को पकड़े जाने का डर सताने लगा । जिसके बाद आरोपियों ने निर्मम तरीके से दुष्यंत की हत्या कर उसके शव को सूटकेस में डाल दिया । और आमेर ले जाकर सुनसान स्थान पर फेंक दिया ।

दुष्यंत की हत्या से बेखबर उसके परिजनों ने परेशान होकर झोटवाड़ा थाना इलाके में दुष्यंत के अपहरण कर फिरौती मांगने का मामला दर्ज कराया । मामले की जांच में जुटी पुलिस ने एटीएम द्वारा पैसे निकाले जाने की जानकारी मिलने के बाद तकनीकी आधार पर आरोपियों को दबोच लिया ।

पुलिस गिरफ्त में आई आरोपी युवती ​प्रिया सेठ काफी शातिर अपराधी है । जो इससे पहले भी एटीएम लूट का प्रयास, ब्लैक​मेलिंग, हाई प्रोफाइल ब्लैक​मेलिंग और पीटा एक्ट सरीखे मामलों में गिरफ्तार हो चुकी है । आरोपी युवती प्रिया सोशल नेटवर्किंग साइट्स के जरिए लोगों को अपने जाल में फांसती है और उन्हें ब्लैकमेलिंग कर मोटी रकम वसूलती है। लेकिन इस बार जिस तरह से प्रिया सेठ द्वारा दुष्यंत का गला रेंतकर निर्मम हत्या की गई, उससे प्रिया का एक और घिनौना चेहरा सामने आया है ।

सक्रिय बहुचर्चित ब्लैकमेलिंग गिरोह
प्रदेश में सक्रिय बहुचर्चित ब्लैकमेलिंग गिरोह का पर्दाफाश कर भले ही एसओजी ने कई आरोपियों को जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया हो । लेकिन पैसे के लालच में अब भी कई  गिरोह प्रदेश में सक्रिय है । पैसे के लालच में अपराध के दलदल में फंसते ये युवा पुलिस के बड़ी चुनौती बनते नजर आ रहे है ।