पत्नी और प्रेमिका के कारण डिप्टी एसपी का डिमोशन,बनाया सिपाही

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read
प्रतीकात्मक चित्र

जयपुर। सरकारी नौकरी में प्राय नीचे से ऊपर की ओर बढ़ते हैं अर्थ टी प्रमोशन मिलता है लेकिन पुलिस विभाग के एक शादीशुदा अधिकारी को महिला सिपाही प्रेमिका के साथ होटल में होंगे हाथों पकड़े जाने के बाद प्रमोशन के भजन डिमोशन कर सिपाही बना दिया गया है ।

घटना उत्तर प्रदेश की है पुलिस विभाग तैनात कृपा शंकर कनौजिया अपनी कार्य प्रणाली कुशलता और योग्यता के आधार पर विभाग में प्रमोशन लेटे-लेटे डिप्टी एसपी के पद पर पहुंच गए और वह उन्नाव में डिप्टी एसपी के पद पर तैनात थे। इस पद पर रहने के दौरान उनको अपने ही अधीनस्थ महिला सिपाही से प्यार हो गया और डिप्टी एसपी कनौजिया 6 जुलाई 2021 को उन्नाव एसपी से पारिवारिक कारण बताकर अवकाश लेकर घर जाने की कहकर निकल गए और उसके बाद से ही वह लापता हो गए थे।

अवकाश पर जाने के साथी डिप्टी एसपी कनौजिया ने अपनी निजी और सरकारी दोनों मोबाइल नंबर बंद कर दिए थे जब मोबाइल नंबर बंद आए तो उनकी पत्नी परेशान हो गई और उन्होंने जानकारी जुटा तो पता चला कि उनके पति छुट्टी लेकर घर के लिए निकले थे लेकिन घर नहीं पहुंचे इस पर पत्नी ने उन्नाव एसपी से फोन कर कर मदद मांगी ।

डिप्टी एसपी कनौजिया की पत्नी से जानकारी और सहयोग के नव एसपी ने किसी अनहोनी के आशंका को देखते हुए डिप्टी एसपी कृपा शंकर कनौजिया का पता लगाने के लिए सर्विलांस टीम को कम पर लगा दिया टीम ने छानबीन शुरू की तो कनौजिया का मोबाइल नेटवर्क कानपुर के एक होटल में जाकर बंद हो ना पाया गया इस सूचना के बाद उन्नाव एसपी में एक टीम कानपुर के होटल पर बिजी जा डिप्टी एसपी की अंतिम लोकेशन की सूचना मिली थी उसे होटल में पहुंचने पर जब टीम ने जांच पड़ताल की तो पता चला कि कानपुर के उसे होटल में डिप्टी एसपी कृपा शंकर कनौजिया एक महिला सिपाही के साथ मिले थे ।

टीम ने सबूत के तौर पर उसे होटल में प्रवेश करते समय डिप्टी एसपी कनौजिया और महिला सिपाही के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए फुटेज अपने साथ लेकर आई जब यह जानकारी सामने आई तो बवाल मचा इस पर राज्य सरकार शासन ने पूरे मामले की समीक्षा करने के बाद डिप्टी एसपी संघ कृपा शंकर कनौजिया को रिवर्ट(डिमोशन) कर फिर से सिपाही बनाने की सिफारिश और आदेश जारी किया ।

इसी फोर्ब्स और आदेश के बाद एडीजी प्रशासन में डिप्टी एसपी कृपा शंकर कनौजिया को सिपाही बनने के आदेश जारी कर दिए और इस आदेश के बाद कृपा शंकर कनौजिया को जो कभी उन्नाव जिले के बीघापुर में डिप्टी एसपी हुआ करते थे को सिपाही बनकर गोरखपुर में नियुक्ति दे दी

जिस महिला सिपाही नहीं डिप्टी एसपी कनौजिया को अपना दिल दिया और प्यार कर बैठी अब वही कनौजिया उनके अधिकारी की जगह उनके बराबर स्तर का सिपाही हो गया

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम