भीलवाड़ा के एक निजी अस्पताल में महिला की मौत, डॉक्टर पर आरोप,हंगामा चक्का जाम

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

भीलवाड़ा। भीलवाड़ा शहर में संचालित जिले के सबसे बड़े निजी अस्पताल में एक महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई परिजनों का आरोप है कि अस्पताल में चिकित्सकों द्वारा उपचार में लापरवाही बरती गई जिस कारण महिला की मौत हो गई और यही नहीं अस्पताल ने उसकी मौत को छुपाए रखा तथा परिजनों को मिलने तक नहीं दिया गया इसको लेकर परिजनों और उनके समर्थकों ने अस्पताल में हंगामा करते हुए अस्पताल के गेट पर धरने पर बैठ गए और रास्ते को भी जाम कर दिया घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने समझा बूझकर रास्ता तो खुलवाया।

शहर के सबसे बड़ी निजी अस्पताल रामसनेही हॉस्पिटल की घटना बताई जा रही है। मृतक का पुष्पलता वैष्णव (36) पत्नी मुकेश वैष्णव के परिजनों के अनुसार पुष्पलता को रामस्नेही चिकित्सालय में 26 जून को घर से सब कामकाज कर सही हालत में लेकर आए थे और डॉक्टर पुनीत जैन को चेक कराया। डॉक्टर ने खून की कमी बताते हुए भर्ती कर लिया और कहा की 4 यूनिट खून चढ़ेगा इस पर परिजनों ने कहा कि हम देने के लिए तैयार है आप चढ़ाईए। दो यूनिट खून चढ़ा दिया गया ।

तीसरा यूनिट खून चढ़ाने के बाद उनकी हालत बिगड़ गई और आज सुबह पुष्पलता ने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि खून चढ़ाने के दौरान संक्रमण के कारण मौत हुई है और पुष्पलता के मौत हो जाने के बाद भी अस्पताल प्रबंधन ने उसका इलाज जारी रखा और हम परिजनों से उसकी मौत को छुपाए रखा यही नहीं जब परिजन मिलने के लिए जाने लगे तो अस्पताल के स्टाफ ने भी परिजनों के साथ धक्का मुक्की और दुर्व्यवहार किया। परिजनों का कहना है कि जब उन्हें मौत की सूचना मिली तो उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई। परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर डेढ़ लाख रुपये देखकर लाश ले जाने का भी आरोप लगाया।

महिला की मौत से गुस्साए मृतका के परिजनों और समर्थको ने मृतका का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराने और दोषी डाक्टर के खिलाफ कार्यवाही की मांग की चेतावनी दी और  मांग नहीं मानी गई तो मृतका का अंतिम संस्कार हॉस्पिटल में ही किया जाएगा और अस्पताल गेट पर धरने पर बैठ गए खबर लिखे जाने तक धरना जारी था और समझाईश का दौर चल रहा था।

Advertisement

उधर दूसरी ओर सूत्र के अनुसार पुष्प लता की मौत खून की तीसरी यूनिट चढ़ने के दौरान हुए रिएक्शन से मौत होना सामने आया है और अस्पताल प्रशासन ने समझौता के तौर पर 25 लख रुपए बतौर सहायता मृतका के परिजनों को देने की पेशकश की है लेकिन मृतक के परिजन अभी भी तैयार अधिक राशि की मांग कर रहे हैं सूत्र के अनुसार 50 लख रुपए की मांग और जांच की मांग पर अड़े हुए है।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम