कांग्रेस में सियासी तूफान, विश्नोई और मदेरणा परिवार को टिकट देने की तैयारी

  जयपुर। राजस्थान के चुनावी रण में बढ़ती जा रही सियासी गर्माहट के बीच कांग्रेस के भीतर टिकट को लेकर जोर-आजमाइश जारी है। पार्टी दावेदारों की भीड़ के बीच जहां जिताऊ प्रत्याशियों के चयन को लेकर मशक्कत कर रही है वहीं, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत अपनी राजनीतिक राह  साधने में जुट गए हैं। …

कांग्रेस में सियासी तूफान, विश्नोई और मदेरणा परिवार को टिकट देने की तैयारी Read More »

October 25, 2018 1:16 pm

 

जयपुर। राजस्थान के चुनावी रण में बढ़ती जा रही सियासी गर्माहट के बीच कांग्रेस के भीतर टिकट को लेकर जोर-आजमाइश जारी है। पार्टी दावेदारों की भीड़ के बीच जहां जिताऊ प्रत्याशियों के चयन को लेकर मशक्कत कर रही है वहीं, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत अपनी राजनीतिक राह  साधने में जुट गए हैं। पिछली बार की तरह इस बार भी भंवरी देवी प्रकरण के आरोप में जेल में बंद विश्नोई और मदेरणा के परिजनों को टिकट दिलाने के लिए उन्होने पैरवी शुरू कर दी है। गहलोत की पैरवी के बाद से पार्टी के भीतर सियासी तूफान खड़ा होता जा रहा है।
पिछले चुनाव में कांग्रेस की तरफ से भंवरी देवी प्रकरण के आरोप में जेल में बंद मलखान विश्नोई की 80 वर्षीय मां और महिपाल मदेरणा की पत्नी लीला मदेरणा को टिकट दिया था। पार्टी के इस निर्णय के बाद प्रदेश भर में तीखी प्रतिक्रिया हुई थी। पार्टी पर वोट बैंक की राजनीति का आरोप भी लगा था। कांग्रेस के इस निर्णय के चलते पार्टी को राजनीतिक रूप से भी नुकसान उठाना पड़ा था। सूत्रों का कहना है कि  इस बार भी गहलोत विश्नोई और मदेरणा परिवार के एक-एक जने को  टिकट दिलाने के लिए दिल्ली में पैरवी कर रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि इस बार वे विश्नोई के बेटे और मदेरणा की पत्नी या बेटी को टिकट दिलाना चाह रहे हैं।
गहलोत की तरफ से दोनों परिवारों को टिकट दिलाने की पैरवी करने की बात सामने आने के साथ ही सियासी पारा चढ़ गया है। विश्नोई और मदेरणा परिवार के लोगों को टिकट देने की पैरवी की  खबरों पर कांग्रेस नेताओं की राय विपरीत ही है। कई नेताओं का कहना है कि ऐसा होने पर एक बार फिर भंवरी प्रकरण चुनाव में उछलेगा। जिससे पार्टी को राजनीतिक नुकसान भी हो सकता है। अशोक गहलोत की सरकार के समय भंवरी देवी प्रकरण के चलते काफी राजनीतिक उठापटक हुई थी।  इस मामले में मदेरणा और विश्नोई के जेल में जाने के बाद दोनों  के समर्थकों ने गहलोत पर राजनीतिक साजिश तक का आरोप लगाया था।

Prev Post

चुनाव आते ही सट्टा बाजार में बढ़ी हलचल, भाजपा की स्थिति कमजोर

Next Post

मीटू अभियान के लिए ग्रुप ऑफ मिनिस्टर का गठन

Related Post

Latest News

राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

गहलोत सरकार के मंत्री शांति धारीवाल का बड़ा आरोप, गहलोत को हटाने का षड्यंत्र रच रहे थे माकन, सबूत पेश कर दूंगा
ACB का धमाका - PHED का चीफ इंजीनियर और दलाल 10 लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार
जी 6 के विधायकों का गहलोत कैंप पर तीखा हमला, कहा- 'आलाकमान को आंख दिखाने वालों पर हो कार्रवाई'
मंत्री धारीवाल ने माकन के वक्तव्य पर किया पलटवार, माकन और आलाकमान को किया कटघरे में खड़ा
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए आ सकता है नया नाम, कौन, जानें पढ़े ख़बर 
राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज
राजस्थान के सियासी घटनाक्रम से नाराज कांग्रेस आलाकमान ने प्रभारी अजय माकन से मांगी रिपोर्ट
टोंक में सड़क हादसे में 4 की मौत, कोटा एलन कोचिंग के छात्र हरिद्वार घूमने निकले थे, बाड़ा तिराहे पर हुआ हादसा