सीएम गहलोत ने अचानक बुलाई कैबिनेट की बैठक, सीबीआई रेड पर नाराजगी!

Police assault on workers and journalists at Congress headquarters, CM Gehlot condemned

 जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े भाई अग्रसेन गहलोत के व्यवसायिक ठिकानों पर शुक्रवार को सीबीआई रेड से भड़के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज अचानक कैबिनेट की बैठक बुलाई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में सुबह 1 सीएम आवास पर कैबिनेट और 1:30 बजे मंत्रिपरिषद की बैठक होगी। मंत्रिमंडल के तमाम सदस्यों को बैठक में शामिल होने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि मंत्रिमंडल सचिवालय की ओर से फिलहाल कैबिनेट की बैठक का कोई आधिकारिक एजेंडा जारी नहीं हुआ है लेकिन विश्वस्त सूत्रों की माने तो बैठक का मुख्य एजेंडा सीबीआई की कार्रवाई को लेकर है। इसके अलावा आधा दर्जन विभागों के कई प्रस्तावों पर भी बैठक में चर्चा होगी।

 

सीबीआई के सीधे दखल पर रोक के बावजूद कार्रवाई

 

दरअसल गहलोत सरकार की ओर से राज्य में सीबीआई के सीधे दखल पर रोक लगाने के बावजूद सीबीआई ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े भाई के यहां पर छापेमारी की जबकि सरकार की ओर से पूर्व में एक सर्कुलर जारी किया गया था, जिसमें राज्य में कहीं भी सीबीआई कोई रेड करती है तो उसे पहले राज्य सरकार से परमिशन लेनी होगी। बावजूद इसके सीबीआई की सीधी कार्रवाई से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भड़क गए हैं। ऐसे में बताया जा रहा है कि कैबिनेट और मंत्रिपरिषद की बैठक में सीबीआई के सीधे दखल पर रोक लगाने का प्रस्ताव बैठक में लाया जा सकता है।

 

सीबीआई कार्रवाई की टाइमिंग को लेकर उठे सवाल 

 

इधर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी की टाइमिंग को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी आरोप लगा चुके हैं कि दिल्ली में राहुल गांधी के पक्ष में मजबूती के साथ खड़े होने के चलते केंद्र सरकार ने उनके भाई के यहां सीबीआई की रेड करवाई है।

 

कई विभागों के प्रस्तावों पर भी होगी चर्चा 

 

बताया जाता है कि कैबिनेट और मंत्रिपरिषद की बैठक में तकरीबन आधा दर्जन विभागों के कई प्रस्तावों पर भी चर्चा होगी और उन पर कैबिनेट की मुहर लगेगी। चिकित्सा, शिक्षा, पीडब्ल्यूडी जैसे कई विभागों के प्रस्ताव बैठक में शामिल करने की बात कही जा रही है।

 

पानी बिजली पर भी हो सकती है बैठक में चर्चा

 

 विश्व सूत्रों की माने तो बैठक में प्रदेश में गड़बड़ाई पेयजल आपूर्ति और बिजली आपूर्ति को सुचारू रखने को लेकर बैठक में चर्चा हो सकती है। इसके अलावा कोयले की कमी को लेकर भी बैठक में मंथन होना है। गौरतलब है कि गहलोत मंत्रिपरिषद की बैठक आमतौर पर बुधवार को आयोजित की जाती है लेकिन इस बार बैठक शनिवार को बुलाई गई है।