देश में तनाव के माहौल के लिए बीजेपी की ध्रुवीकरण की राजनीति जिम्मेदार

BJP's politics of polarization is responsible for the atmosphere of tension in the country.

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जब से केंद्र में एनडीए की सरकार आई है तब से ही देश में धर्म और जाति के नाम पर ध्रुवीकरण की राजनीति हो रही है जो कि देश हित में नहीं है। आज जगह-जगह तनाव पैदा हो रहा है अगर लड़ने वाले दो अलग-अलग समुदाय के होते हैं तो उसे सांप्रदायिक झगड़ा करार देकर ध्रुवीकरण का मुद्दा बना लेते हैं। मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि मेरा मानना है जिस परिवार, देश-गांव और शहरों में शांति भाईचारा और सद्भाव रहता है वह देश विकास के पथ पर आगे बढ़ता है।

https://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan/videos/722842408753865/

मुख्यमंत्री गहलोत ने आज बाड़मेर में मीडिया से बातचीत में कहा कि आज देश में महंगाई बेरोजगारी अपने चरम पर है। युवा नौकरी के लिए छटपटा रहा है, पेट्रोल डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। लोगों में जब आक्रोश बढ़ता है तो लोगों का ध्यान इससे हटाने के लिए सांप्रदायिक तनाव और ध्रुवीकरण जैसे मुद्दे उछाल दिए जाते हैं।

https://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan/videos/722842408753865/

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जिस तरह से विधानसभा चुनाव लड़ा गया। ध्रुवीकरण की राजनीति की गई वह सही नहीं है। उत्तर प्रदेश में खूब फेक एनकाउंटर किए गए। मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि फेक एनकाउंटर करना आसान काम है लेकिन जनता में कानून का राज होना चाहिए, कोई कितना ही बड़ा अपराधी हो उसे सजा देनी है या फांसी देनी है इसका फैसला कानून को करना चाहिए।

पांच राज्यों में चुनाव के बाद बढ़ने लगे पेट्रोल-डीजल के दाम

सीएम गहलोत ने कहा कि जब पांच राज्यों के चुनाव चल रहे थे, तब पेट्रोल डीजल के दाम नियंत्रण में हो गए और जब पांच राज्यों के चुनाव संपन्न हो गए अब लगातार पेट्रोल- डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़ाए जा रहे हैं गवर्नेंस का यह तरीका सही नहीं है क्योंकि अगर पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ेंगे तो हर चीज के दाम बढ़ेंगे।

देश का मीडिया दबाव में

सीएम ने कहा कि आज देश का मीडिया भी केंद्र सरकार के दबाव में हैं, विपक्ष के साथ-साथ मीडिया घरानों को भी ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स के छापों से डराया जाता है। गृह मंत्रालय में तो प्रकोष्ठ बन चुका है जो नेशनल मीडिया और स्टेट मीडिया की भी पूरी मॉनिटरिंग करता है।

1 लाख 76 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप लगाने वाले माफी मांग रहे हैं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यूपीए-2 के दौरान सीएजी ने मनमोहन सरकार पर 1 लाख 76 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया था और कहा था कि कोलगेट और 2जी स्पेक्ट्रम बड़े-बड़े घोटाले हुए हैं लेकिन आज वही लोग लिखित में संजय निरुपम से माफी मांगते फिर रहे हैं, इस इस तरह का कोई घोटाला नहीं हुआ था। बड़ी बात यह कि मोदी सरकार 7 साल से सत्ता में है लेकिन एक व्यक्ति को जेल नहीं भेजा और यूपी सरकार में जो लोग जेल गए थे वह सब छूट गए।

विपक्ष की भूमिका निभा रहे हैं राहुल गांधी

विपक्ष के कमजोर होने के सवाल पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी अकेले केंद्र सरकार से लड़ रहे हैं, जिन-जिन मुद्दों पर राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को चेताया था वह सभी बातें सच साबित हुई हैं। कोरोना की पहली लहर को लेकर और राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को चेताया था कि सूनामी आने वाली है।

लेकिन केंद्र सरकार ने उनकी बात को अनसुना किया और उसका परिणाम देश ने भुगता। मुख्यमंत्री गहलोत कहा कि अगर विपक्ष का कोई नेता बोलता है तो केंद्र सरकार को से गंभीरता से लेना चाहिए लेकिन केंद्र और भाजपा ने तो कांग्रेस को दुश्मन मान रखा है यह लोग कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं लेकिन इन्हें नहीं पता कि कांग्रेस देश का डीएनए है, कांग्रेस मुक्त की बात करने वाले खुद मुक्त हो जाएंगे।