जयपुर

भाजपा ने 16 सीटों पर प्रत्याशी किए घोषित,पहली सूची में 14 वर्तमान सांसदों पर जताया भरोसा

 

जयपुर
लोकसभा चुनाव के रण का आगाज होने के साथ ही कांग्रेस से पहले भाजपा ने धुलण्डी के दिन अपने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी। इस सूची में प्रदेश की 25 में से 16 सीटों पर प्रत्याशी घोषित किए गए हैं। इसमें भी 14 वर्तमान सांसदों पर ही भरोसा जताया गया है। झुंझुनूं से वर्तमान सांसद संतोष अहलावत का टिकट काटकर उनके स्थान पर मंडावा विधायक नरेन्द्र खींचड वहीं अजमेर सीट पर पूर्व विधायक भागीरथ चौधरी पर दांव खेला गया है। साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को चुनावी मैदान में उतरने और दुष्यंत सिंह का टिकट कटने की अटकले भी खारिज हो गई है।
इस सूची में चार केन्द्रीय मंत्रियों को भी दुबारा चुनावी मैदान में उतारा गया है। पार्टी ने जयपुर शहर लोकसभा सीट पर सांसद रामचरण बोहरा पर विश्वास जताते हुए उन्हें टिकट से नवाजा है। माना जा रहा था कि पार्टी में आंतरिक विरोध के कारण अधिकांश वर्तमान सांसदो के टिकट काटे जा सकते हैं लेकिन पार्टी आलाकमान ने सभी विरोध को दरकिनार करते हुए पुराने चेहरों पर ही भरोसा जताया है। पहली सूची में किसी भी महिला का नाम शामिल नहीं किया गया है। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि शेष रही 9 सीटों में से करौली धौलपुर सीट पर किसी महिला को भाजपा उम्मीदवार बना सकती है। मालूम हो कि गत लोकसभा चुनावों में भी भाजपा ने एक ही महिला को प्रत्याशी बनाया था।
पार्टी की पहली सूची में श्रीगंगानगर से निहालचंद मेघवाल, बीकानेर से अर्जुनराम मेघवाल, जोधपुर से गजेंद्र सिंह शेखावत,  सीकर से सुमेधानंद, जयपुर ग्रामीण से राज्यवर्धन सिंह राठौड़, जयपुर शहर से रामचरण बोहरा, भीलवाड़ा से सुभाष बहेडिय़ा, अजमेर से भागीरथ चौधरी, पाली से पीपी चौधरी, चित्तौडगढ़ से सीपी जोशी, कोटा से ओम बिरला, जालोर से देवजी पटेल, झालावाड से दुष्यंत सिंह, टोंक-सवाई माधोपुर से सुखबीर सिंह जौनापुरिया, झुंझुनूं से नरेंद्र खींचड़ और उदयपुर से अर्जुनलाल मीना को उम्मीदवार बनाया गया है।
पहली सूची जारी होने के बाद अब दौसा, अलवर, भरतपुर, करौली-धौलपुर, चूरू, बाड़मेर, राजसमंद, बांसवाड़ा लोकसभा सीट पर प्रत्याशियों की घोषणा बाक है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि इन सीटों पर वर्तमान सांसदों के टिकट काटे जा सकते हैं।
पार्टी में अर्जुनराम मेघवाल, पीपी चौधरी और रामचरण बोहरा का खुलकर विरोध सामने आ चुका था। इसके अलावा अन्य सीटों पर भी विरोधी धडा सक्रिय था लेकिन पार्टी पदाधिकारियों ने विरोधियों को ठेंगा दिखाते हुए पुराने चेहरों पर ही दांव खेला है। बता दें कि बीकानेर में अर्जुनराम मेघवाल का टिकट काटने की मांग को लेकर पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी ने तो पहले ही अपना इस्तीफा पार्टी नेताओं को भेज दिया था। इसके अलावा दो पूर्व मंत्रियों और तीन विधायकों के साथ जिला पदाधिकारियों ने पत्र लिखकर पाली से पीपी चौधरी का टिकट काटने की मांग की थी। यहीं हाल जयपुर शहर सीट पर रामचरण बोहरा का है। यहां फीडबैक कार्यक्रम के दौरान बगरू के पूर्व विधायक कैलाश वर्मा ने तो पार्टी नेताओ के सामने ही बोहरा पर चुनावों में हराने का आरोप लगा दिया था।
liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *