बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के चेहरे से नकाब हटता नजर

Jaipur News / अशफाक कायमखानी। हालाकि 2020 मे भारत मे अनेक तरह के बदलाव नजर आने के साथ साथ CAA व NRC के खिलाफ महिलाओं द्वारा देश भर मे लोकतांत्रिक तरीक़े से ऐतिहासिक आंदोलन चलाने के अतिरिक्त उत्तरी भारत के बिहार के दिग्गज नेता माने जाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक …

बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के चेहरे से नकाब हटता नजर Read More »

October 28, 2020 11:49 am

Jaipur News / अशफाक कायमखानी। हालाकि 2020 मे भारत मे अनेक तरह के बदलाव नजर आने के साथ साथ CAA व NRC के खिलाफ महिलाओं द्वारा देश भर मे लोकतांत्रिक तरीक़े से ऐतिहासिक आंदोलन चलाने के अतिरिक्त उत्तरी भारत के बिहार के दिग्गज नेता माने जाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नामक दो नेताओं के चेहरो से सुशासन बाबू व गांधीवादी का नकाब उठाता जाता नजर आया।

जिस बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सुशासन बाबू के नाम से पुकारे जाने के अलावा शालीनता के तौर पर देखा व प्रचारित किया जाता था। उस नीतीश कुमार को लोकडाऊन के समय बिहारी मजदूरों के प्रति सहानुभूति दिखाने के बजाय उनके बिहार नही आने की जीद करते देखे जाने के बाद अब बिहार विधानसभा चुनाव प्रचार मे बिगड़े बोलो वाले नेता के तोर पर देखा जा रहा है। नीतीश के लालू यादव के लिये बोले बोल कि बेटे की चाहत मे बेटीयाँ ही बेटीयाँ पैदा करते चले जाने के बोल से उनकी ऊपरी तोर पर बनाईं गई शालीनता वाली छवि को पुरी तरह धो डाला है। बिहार चुनावों मे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा दिये जाने वाले भाषणों मे उनके द्वारा उपयोग किये जाने वाले शब्दों ने उनकी ऊपरी तौर पर पहले बनाई गई सुशासन बाबू व शालीनता बरतने वाले नेता के चेहरे से नकाब पुरी तरह हटाकर रख दिया है।

नीतीश कुमार की तरह ही एक तबके द्वारा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की भी एक अर्शे से गांधीवादी छवि बनाने की भरपूर कोशिश की जा रही थी। लेकिन कुछ महीनों पहले गहलोत द्वारा अपने ही तत्तकालीन उप मुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट के लिये नीच व नकारा शब्द तक का उपयोग करने से उनके चेहरे से नकाब हटना माना जायेगा।इसके अतिरिक्त अपने ही केबिनेट मे उपमुख्यमंत्री व तत्तकालीन प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट व पायलट समर्थक मंत्री व विधायकों के खिलाफ ऐसीबी व एसओजी मे दफा 124-A मे फर्जी मुकदमा दर्ज करके उनकी छवि खराब करने की चेष्टा करने के बाद उन्हीं ऐजेन्सियों ने 124-A नही बनना मानने के बाद तो लगा कि गहलोत की गांधीवादी छवि से नकाब पुरी तरह उतर ही चुका है। गृह विभाग का प्रभार स्वयं मुख्यमंत्री गहलोत के पास होने से पुलिस पर उनका सीधा कंट्रोल होने के चलते उक्त कार्यवाही से पहले उक्त विभागों के मुखियाओं को बदला गया था। इसके अतिरिक्त पुलिस विभाग के मुखिया भूपेंद्र यादव को लोकसेवा आयोग का चीफ व ऐसीबी के मुखिया के सेवानिवृत्ती के दिन वाईस चांसलर बनाने से जनता मे अनेक तरह के शक पैदा करते है।

कुल मिलाकर यह है कि 2020 जाते जाते बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के चेहरे से सुशासन बाबे व गांधीवादी का नकाब हटाता साफ नजर आ रहा है। अब शायद नीतीश कुमार की सुशासन बाबू व अशोक गहलोत की गांधीवादी छवि को बनाने की कोशिश को झटका लगना माना जा रहा है।

Prev Post

'गोरक्षधाम' के दीप बनेंगे 'अयोध्या दीपोत्सव' के गवाह

Next Post

एसीबी ने प्रदेश में छह बड़ी कार्रवाई से एक ही दिन में रिश्वत लेते दबोचे थानाधिकारी, कांस्टेबल, डीटीओ व पटवारी

Related Post

Latest News

गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर

Trending News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know

Top News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर
बच्चियों को कहा मत दो वोट,पाकिस्तान चली जाओ -IAS हरजोत कौर
राजस्थान शिक्षा विभाग- घोटालेबाज बाबू डेढ माह से नही आ रहा ड्यूटी पर लापता, DEO बचा रहे है या... ?
राजस्थान शिक्षा विभाग- लाखों का घोटाला फिर भी अब तक दोषी प्रिंसिपल पर कार्यवाही क्यो ?
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know