भीलवाड़ा आबकारी अधिकारी सहित 10 डीईओ को नोटिस जारी

notice

जयपुर/ आबकारी विभाग ने नई शराब की दुकानों के नीलामी प्रक्रिया को लेकर कम आवेदन प्राप्त होने पर भीलवाड़ा जिला आबकारी अधिकारी सहित 10 आबकारी अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए 3 दिन में स्पष्टीकरण मांगा है वहीं विभाग ने दूसरी ओर आबकारी नीति में और संशोधन करते हुए शराब ठेकेदारों को बड़ी राहत दी है ।

आबकारी विभाग द्वारा इस बार राजस्थान की 7665 दुकानों की ऑनलाइन नीलामी 3 मार्च से 10 मार्च तक 5 चरणों में ऑनलाइन आयोजित की जाएगी इस ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत अब तक प्राप्त होने पर भीलवाड़ा जिले के आबकारी अधिकारी अलवर के आबकारी अधिकारी सीकर के आबकारी अधिकारी बांसवाड़ा के आबकारी अधिकारी बूंदी हनुमानगढ़ श्रीगंगानगर उदयपुर आबकारी अधिकारियों वह एईओ को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए 3 दिन के अंदर स्पष्टीकरण मांगा है ।

राज्य सरकार ने नई आबकारी और मद्यसंयम नीति में आवेदकों की सुविधा के लिए संशोधन किया है। वित्त सचिव (राजस्व) टी. रविकांत ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया है। इसमें शराब दुकानों के लिए आवेदन करने वाले आवेदकों की सुविधा के लिए अग्रिम वार्षिक गारंटी राशि घटाई गई है। अब आवेदकों को 8% के बजाय केवल 5% राशि जमा करनी होगी। धरोहर राशि में भी कमी करते हुए इसे 4% के बजाय 2% किया गया है। इस प्रकार आवेदकों को कुल वार्षिक राशि के 12 प्रतिशत के बजाय 7% ही वित्तीय वर्ष के शुरुआत में जमा कराने होंगे।

शेष 50% राशि 30 जून 2021 तक करा सकेंगे जमा

कंपोजिट राशि एकमुश्त जमा करने के बजाय 2 किश्तों में जमा करा सकेंगे। 50% राशि 31 मार्च 2021 तक और शेष 50% राशि 30 जून 2021 तक जमा करा सकेंगे। शराब दुकानों के लाइसेंसियों को न्यूनतम रिजर्व प्राइस से अधिक प्राप्त होने वाली राशि में इच्छा अनुसार अंग्रेजी शराब, बीयर या देसी मदिरा से पूर्ति की सुविधा भी दी गई है। इस प्रकार शराब दुकान के लाइसेंसी को नीलामी में बढ़ी हुई राशि के क्रम में यह छूट होगी कि वह अपनी मांग के अनुसार मदिरा या नकद जमा कराकर गारंटी पूर्ति कर सके।

ऑनलाइन नीलामी कब से

विदेशी मदिरा (BIO) ब्रांड्स का भी भराव वार्षिक गारंटी राशि में समायोजित किया जाएगा। आबकारी विभाग द्वारा 7665 दुकानों की ऑनलाइन नीलामी 3 मार्च से 10 मार्च तक 5 चरणों में आयोजित होगी। आवेदक नीलामी से 1 दिन पहले रात 11:59 बजे तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ।