बालिकाओं से दरिंदगी पर अब तो दुख जताने के लिए भी कम पड़ रहे शब्द : राजे

जयपुर। प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था और लगातार सामने आ रहे महिला अपराधों पर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे गहलोत सरकार के खिलाफ मुखर हैं। राजे ने झालावाड़ में एक बच्ची से दरिंदगी के मामले का जिक़्र करते हुए मंगलवार को एक बार फिर गहलोत सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने एक के बाद एक लगातार सामने आ रही ऐसी घटनाओं पर चिंता जताते हुए सरकार और पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए।

पूर्व मुख्यमंत्री राजे का ट्वीट

पूर्व मुख्यमंत्री राजे ने ट्वीट कर लिखा कि वीभत्स! बारां सामूहिक दुष्कर्म मामले में स्याही अभी सूखी भी नहीं थी अखबार की, लो हाड़ौती से फिर खबर आ गई बलात्कार की। कोटा की बच्ची से झालावाड़ में दरिंदगी व हैवानियत वाली इस खबर पर दुख जताने के लिए शब्द कम पड़ रहे हैं, वहीं जितनी निंदा की जाए कम है। उन्होंने लिखा कि मामले में पुलिस की कार्यशैली बराबर की दोषी है। क्योंकि कोटा पुलिस ने ना तो पीडि़त परिजनों की रिपोर्ट लिखी और ना ही झालावाड़ पुलिस ने बच्ची को घर पहुंचाना मुनासिब समझा। कांग्रेस सरकार अब अपनी कुंभकर्णी नींद को त्यागकर आरोपियों के साथ दोषी पुलिसकर्मियों पर भी कड़ी कार्रवाई करें।

पूर्व मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कविता की कुछ पंक्तियों के ज़रिये लिखा कि हर रोज़ सुन रहे बच्चियों की चीत्कार, फिर भी बहरी है राज्य की सरकार, हे सरकार- कुछ तो करो विचार, नहीं सहेगी अब नारी अत्याचार।