10 साल बाद फिर राजस्थान को विधानसभा अध्यक्षों के सम्मेलन की मेजबानी, PM मोदी व उपराष्ट्रपति आऐंगे

 

जयपुर/ राजस्थान को पूरे एक दशक बाद देश के सभी राज्यों की विधानसभाओं के अध्यक्षों और सचिवों के सम्मेलन की मेजबानी का दायित्व मिला है 10 जनवरी से 3 दिन तक होने वाले इस सम्मेलन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उपराष्ट्रपति जगदीप धनकड और लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला सहित कई बड़े नेता इसमें शामिल हो सकते हैं और इस सम्मेलन को लेकर राजस्थान सरकार द्वारा व्यापक स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी गई है।

देश की विधानसभाओं के अध्यक्षों और सचिवों के सम्मेलन की मेजबानी के लिए केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्रालय और लोकसभा अध्यक्ष कार्यालय ने राजस्थान विधानसभा को चुना है इस सम्मेलन को लेकर राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष डॉक्टर सीपी जोशी अपनी टीम के साथ उसकी तैयारी में जुट गए हैं।

डॉक्टर सीपी जोशी का मानना है कि इस सम्मेलन की अर्थात इस राष्ट्रीय कार्यक्रम की मेजबानी करने का मौका हमें मिला है यह हमारे लिए खुशी और गौरव की बात है इस कार्यक्रम के मुख्य आयोजन कर्ता लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला हैं और उन्हीं के प्रयासों से राजस्थान को इस सम्मेलन की मेजबानी मिली है और उन्हीं की देखरेख में यह सब तैयारियां हो रही है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के आने के कार्यक्रम को भी वही देख रहे हैं।

विधानसभा अध्यक्ष डॉ जोशी के अनुसार 10 जनवरी को देश की विधानसभाओं के सचिवों का सम्मेलन होगा और 11 व 12 जनवरी को विधानसभाओं के अध्यक्षों का सम्मेलन होगा।सम्मेलन में राजस्थान की विधानसभा पूर्व में चर्चा में आ चुके प्रमुख मुद्दों कानूनों उदाहरण की जानकारी भी दी जाएगी तथा लोकतंत्र संसदीय कार्य प्रणाली विधायिका कार्यपालिका के महत्व चुनौतियां नियमों व्यवस्थाओं संस्थानों आदि पर चिंतन किया जाएगा।

संसदीय कार्य के अनुभवी लोग अपने विचार रखेंगे और सभी मुद्दों पर चर्चा और चिंतन के बाद सम्मेलन में सामने आए विचारों मुद्दों सिद्धांतों पर एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी और यह रिपोर्ट सभी विधानसभाओं में भेजी जाएगी और लोकसभा तथा राज्यसभा के रिकॉर्ड में भी भेजी जाएगी इस रिपोर्ट को भविष्य में संसदीय राज्यों की विधानसभाओं में किसी नियम प्रक्रिया व्यवस्था प्रश्न आदि के जवाब के रूप में उदाहरण बताओ और काम में लिया जा सकेगा।

किस सम्मेलन में राज्यपाल कलराज मिश्र मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित कई केंद्रीय मंत्री सांसद राजस्थान के वर्तमान में पूर्व सांसद विधायक पूर्व विधायक भी शामिल होंगे।

75 साल मे पहला मौका राजस्थान के..

10 साल पहले सन 2012 में भी राजस्थान विधानसभा में देशभर की विधानसभाओं के अध्यक्ष और विधान परिषद में के प्रमुखों का सम्मेलन हुआ था तब केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व में यूपीए सरकार थी राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत थे और 10 साल बाद एक बार फिर जब सम्मेलन हो रहा है।

तब भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हैं और विधानसभा के अध्यक्ष डॉक्टर सीपी जोशी हैं और 10 साल पहले जब सम्मेलन हुआ था तब डॉक्टर सीपी जोशी केंद्र में रेल व सड़क परिवहन मंत्री थे देश के 75 साल के लोकतंत्र में यह पहला मौका है जब संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा के सभापति अध्यक्ष राजस्थान से ही है।