अब 22 तक नामवापसी, फिर मिलेंगे चुनाव चिह्न

Jaipur News । प्रदेश के जयपुर, जोधपुर और कोटा शहर के 6 नगर निगमों के लिए 29 अक्टूबर और 1 नवंबर को होने वाले मतदान के तहत नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद अब 22 अक्टूबर तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे। चुनाव चिन्हों का आवंटन 23 अक्टूबर को करवाया जाएगा। …

अब 22 तक नामवापसी, फिर मिलेंगे चुनाव चिह्न Read More »

October 20, 2020 5:59 pm

Jaipur News । प्रदेश के जयपुर, जोधपुर और कोटा शहर के 6 नगर निगमों के लिए 29 अक्टूबर और 1 नवंबर को होने वाले मतदान के तहत नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद अब 22 अक्टूबर तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे। चुनाव चिन्हों का आवंटन 23 अक्टूबर को करवाया जाएगा। छहों नगर निगमों के 560 वार्डों के लिए कुल 2903 उम्मीदवारों ने 3216 नामांकन दाखिल किए हैं। निगम चुनाव के लिए 14 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होने के बाद से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई थी।


अब हो रहे इधर से उधर


कांग्रेस-भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बने निगम चुनाव में नेताओं के दल-बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है। इसी कड़ी में मंगलवार को कांग्रेस पार्टी के आमेर ब्लॉक अध्यक्ष शहज़ाद खान ने कई सालों पुराना रिश्ता तोड़ते हुए भाजपा का दामन थाम लिया। शहज़ाद के साथ उनके कई समर्थक भी भाजपा में शामिल हुए हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने शहज़ाद और उनके साथ आए कार्यकर्ताओं का पार्टी में स्वागत किया। सभी को भाजपा की सदस्यता दिलाई गई। 

नए उम्मीदवारों के सामने चुनौती


निगम चुनाव में नामांकन भरने के बाद सभी प्रत्याशी चुनावी मैदान में कूद चुके हैं। कोरोना काल में कई बंदिशों के चलते उम्मीदवार और उनके समर्थक असमंजस में हैं कि वे किस तरह से अपने प्रतिद्धंदी को मात देकर विजय हासिल करें। वर्तमान हालात में सभी के पास सोशल मीडिया ही बड़ा सहारा है। इसके लिए उम्मीदवार सोशल मीडिया विशेषज्ञों का सहारा ले रहे हैं। बाकायदा कई उम्मीदवारों ने तो पैसे देकर प्रोफेश्नल्स को बुलाया है ताकि वे अपने तजुर्बे से उनकी सोशल मीडिया पर ज्यादा से ज्यादा पब्लिसिटी करें और मतदाताओं को आकर्षित करें। सोशल मीडिया के सभी छोटे-बड़े प्लेटफार्म पर इन दिनों निगम चुनाव के उम्मीदवार प्रचार करते नजर आ रहे हैं। इस बार चुनाव प्रचार में पोस्टर वॉर भी जोरों पर है। उम्मीदवारों की ओर से सोचा जा रहा है कि जो जितने ज्यादा पोस्टर लगाएगा, उस उम्मीदवार की उतनी ही पब्लिसिटी होगी और दूसरे उम्मीदवार से वह ज्यादा मतदाताओं को आकर्षित कर पाएगा। काफी उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जिन्होंने टिकट मिलने से पहले ही अपने क्षेत्र की दीवारों को पोस्टर से भर दिया। कुछ ऐसे भी है जिन्होंने पोस्टर तो लगाए पर उन्हें पार्टी से टिकट नहीं मिल पाया। 



नए उम्मीदवारों को लगाना पड़ेगा ज्यादा जोर


कोरोना काल में नए उम्मीदवारों को ज्यादा जोर लगाना पड़ेगा। खासकर उन उम्मीदवारों को जिन्हें उनके क्षेत्र में भी कम लोग जानते हैं। कोरोना काल से पहले मतदाताओं से जुडऩे के लिए जन संपर्क और रैली निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया जाता था। इस बार ऐसा नहीं हो पाने के कारण नए उम्मीदवारों की परेशानी बढ़ गई है। पिछले चुनावों की तुलना में इस बार वार्ड का क्षेत्र कम होने से उम्मीदवारों को कुछ राहत भी मिलेगी।

Prev Post

बरोनी थाना क्षेत्र मे सिलेंडर फटा आग लगी

Next Post

बीकानेर में कोविड जांच सेंटर में लगी टोकन मशीन, लंबी कतारों से मिली मुक्ति

Related Post

Latest News

कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO
कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..

Trending News

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान

Top News

कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
भीलवाड़ा शहर में 2 साल बाद 5 अक्टूबर को निकलेगा विशाल पथ संचलन
राजस्थान शिक्षा विभाग- राजस्थान में सरकारी स्कूलों का समय परिवर्तन 15 से बदलेगा
सफाई कर्मचारी भर्ती मामला - अलवर नगर परिषद व सरकार को हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर नोटिस
कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..
गहलोत को CM हटाते ही राजस्थान में कांग्रेस खंड-खंड बिखर ...
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान