राजस्थान में एक सरकारी स्कूल ऐसा जहां महीने में एक दिन साइन करने आते है बस…

A government school in Rajasthan where only one day in a month come to sign...

जयपुर/ राजस्थान में एक ऐसा सरकारी स्कूल है जहां बच्चे तो रोज पढ़ने के लिए आते हैं लेकिन उनको पढ़ाने के लिए वहां शिक्षक रोजाना नहीं महीने में मात्र 1 दिन शिक्षक स्कूल आकर अपनी उपस्थिति रजिस्टर में पूरे महीने की उपस्थिति दर्ज कर अच्छा खासा वेतन उठा रहे हैं।

इस संबंध में ग्रामीणों द्वारा उच्च अधिकारियों को शिकायत करने के बाद भी समाधान नहीं हो पा रहा है और आखिर परेशान होकर ग्रामीणों ने बगावत का बिगुल बजा दिया।

राजस्थान में सरकारी स्कूलों का और शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाने के लिए सरकार के साथ ही विभाग के उच्च अधिकारी पूरी तरह से प्रयासरत हैं लेकिन विभाग के कुछ अपवाद स्वरूप कार्मिक विभाग सरकार और अपने उच्चाधिकारियों की मेहनत को पलीता लगाने के साथ ही उन्हें बदनाम करने पर तुले हुए हैं । ऐसी ही एक घटना राजस्थान की स्वर्ण नगरी के नाम से मशहूर जैसलमेर जिले के मोहनगढ़ नेहरू क्षेत्र के 6 ढाणी में स्थित सरकारी स्कूल की है।

बताया जाता है मोहनगढ़ में स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय 6 ढाणी में 81 विद्यार्थियों का नामांकन है और यहां पर इन विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए 3 शिक्षक लगा रखे हैं इनमें एक महिला शिक्षक है ।

ग्रामीणों का कहना है कि शिक्षक स्कूल में पढ़ाने के लिए आते ही नहीं है और केवल महीने में 1 दिन स्कूल आकर पूरे महीने की हाजरी रजिस्टर में लगा देते हैं और वापस चले जाते हैं शिक्षकों के इस व्यवहार के कारण और स्कूल नहीं आने से विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की पढ़ाई कैसे होगी जी अंदाजा लगाया जा सकता है।

ग्रामीणों का कहना है कि इस संबंध में कई बार विभाग के मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी जिला शिक्षा अधिकारी मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी तब को अवगत कराया गया और सारी घटनाक्रम की जानकारी दी गई लेकिन आज तक इस समस्या का समाधान नहीं निकला ।

ग्रामीणों का आरोप है कि शिक्षकों के इस कार्य शैली के कारण विद्यालय में पढ़ने वाले उनके विद्यार्थियों को उनके स्वयं का नाम लिखना तक नहीं आता यह पढ़ाई का स्तर है के शिक्षकों की स्थिति कार्यप्रणाली और विभाग के उच्च अधिकारियों द्वारा सुनवाई नहीं करने से आक्रोशित होकर ग्रामीणों ने शिक्षकों और विभाग के अधिकारियों के खिलाफ बिगुल बजाते हुए स्कूल में तालाबंदी की चेतावनी दी है