प्रतापगढ़, डूंगरपुर में 4 साल में 7 कलेक्टर और भरतपुर में 6 कलेक्टर बदले,प्रदेश मे 4 साल 135 बार बदले कलेक्टर 

ias
FILE PHOTO
जयपुर/ राजस्थान में कांग्रेस की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नीत सरकार के आखिर लड़ाई झगड़ा और संघर्ष के बीच आखिर 4 साल पूरे हो गए पूरे प्रदेश में गहलोत सरकार के 4 साल का जश्न मनाया जा रहा है सरकार की उपलब्धियों को बयां किया जा रहा है लेकिन इन 4 सालों के दौरान राजस्थान में 135 बार जिलों के जिला कलेक्टर बदले गए 2 जिले तो ऐसे हैं जहां 4 साल में 7-7 कलेक्टर बदले गए ।
 
 
किसी भी कलेक्टर अधिकारी या कार्मिक की कार्यप्रणाली और कार्यशैली का आकलन तब हो पाता है जब वह कम से कम 1 साल तक उस सीट पर कार्य करता है उसके बाद ही आकलन का सही पता चल पाता है।
 
लेकिन राजस्थान में चाहे कारण नेताओं का अधिकारियों से विवाद हो या भ्रष्टाचार हो यह कार्य में कोताही हो या और कोई राजनीतिक कारण रहो या फिर अन्य और कोई भी और कारण लेकिन लेकिन राजस्थान में पिछले 4 साल में 135 जिला कलेक्टर जिलों के बदले गए औसतन हर साल में 1 जिले का एक कलेक्टर बदला गया।
 
पिछले 4 साल में किस जिले में कितने कलेक्टर बदले एक नजर में
 
प्रतापगढ़ और डूंगरपुर में 7-7 बार भरतपुर में 6 बार राजधानी जयपुर संभाग कोटा के अलावा सीकर, श्रीगंगानगर ,करौली, बाड़मेर ,अलवर, चित्तौड़गढ़ और बूंदी में 4 साल में 5 बार कलेक्टर बदले गए इसी तरह बांसवाड़ा, जालौर, सवाईमाधोपुर ,जैसलमेर, झालावाड, टोंक, सिरोही और चूरू में 4 साल में इन जिलों में चार कलेक्टर बदले गए ।
 
प्रतापगढ़ में सरकार ने पिछले 4 साल में आईएएस ओमप्रकाश कसेरा,श्याम राजपुरोहित, अनुपमा जोरवाल ,रेणु जयपाल, प्रकाश चंद शर्मा और सौरभ स्वामी को कलेक्टर के तौर पर लगाया और हटाया अब इसलिए 28 अक्टूबर से यहां डॉक्टर इंद्रजीत यादव को कलेक्टर लगाया गया है।
 
प्रतापगढ़ में कलेक्टर के कार्यकाल को देखा जाए तो ओमप्रकाश का कसेरा को मात्र 8 दिन का समय मिला और अनुपमा जोरवाल को डेढ़ साल रेणु जयपाल को 5 महीने प्रकाश चंद्र शर्मा को 8 महीने और सौरव स्वामी को 6 महीने का करने का समय मिला।
 
इसी तरह डूंगरपुर में जिस सरकार ने तीन-तीन माह में ही कलेक्टर बदल दिए इंद्रजीत यादव और सुरेश गोला टोंक कलेक्टर यहां मात्र 3-3 महीने ही रहे और शुभम चौधरी तो 6 माह में ही बतौर कलेक्टर हटा दिए गए इंद्रजीत यादव को 3 माह में ही हटाकर आर ए एस अधिकारी से पदोन्नत आईएएस अधिकारी बने लक्ष्मीनारायण मंत्री को यहां का हाल ही में नया कलेक्टर बनाया गया है ।
 
कांग्रेस शासन में दोही आईएएस अधिकारी सर्वाधिक समय तक कलेक्टर रहे
 
कांग्रेस शासन के दौरान अगर किसी कलेक्टर के कार्यकाल की बात की जाए तो उसका रिकॉर्ड राजसमंद के तत्कालीन कलेक्टर अरविंद पोसवाल के नाम है पोसवाल ने 25 दिसंबर 2018 को राजसमंद के कलेक्टर पद पर पदभार संभाला था और 19 जनवरी 2022 को इस पद से उन्हें रिलीव किया गया था ।
 
करीब 3 साल से भी अधिक समय तक राजसमंद के जिला कलेक्टर है नाम है। इसके बाद हनुमानगढ़ जिले के तत्कालीन जिला कलेक्टर जाकिर हुसैन का नाम आता है जाकिर हुसैन 25 दिसंबर 18 से 8 अप्रैल 2021 अर्थात 2 साल तक तक हनुमानगढ़ जिले के जिला कलेक्टर के पद पर रहे।