जयपुर

राजस्थान में मुख्यमंत्री आवास में 27 कोरोना पॉजिटिव आज 5660 नए केस

जयपुर। राजस्थान में आज 5660 नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। मुख्यमंत्री आवास में भी आज मुख्यमंत्री के कार चालक सहित कुल 27 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। कुछ दिन पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व उनके पुत्र वैभव गहलोत भी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। वही कोरोना से जयपुर में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

राजस्थान में आज सबसे अधिक जयपुर में 2377 नए केस मिले हैं। आज जोधपुर में 600 नए केस, अलवर में 364 नए केस उदयपुर में 312 नए केस, बीकानेर में 237 नए केस, कोटा में 209 नए केस, भरतपुर में 200 नए केस, भीलवाड़ा में 166 नए केस, चित्तौड़गढ़ में 146 नए केस, अजमेर में 130 नए केस, दौसा में 109 नए केस, पाली में 105 नए केस, सवाई माधोपुर में 90 नए केस, सीकर में 79 नए केस, चूरु में 68 नए केस, सिरोही में 53 नए केस, नागौर में 49 नए केस, डूंगरपुर व टोंक में 46-46 नए केस, प्रतापगढ़ में 44 नए केस, बाड़मेर में 40 नए केस गंगानगर व झालावाड़ में 30-30 नये केस, हनुमानगढ़ में 26 नए केस, धौलपुर में 17 नए केस, जैसलमेर में 16 नए केस, झुंझुनू व बूंदी में 11-11 नए केस, राजसमंद में 9 नए केस, बारां व जालौर में 2-2 नए केस मिले हैं।

इसी महीने में राज्य सरकार ने आज तीसरी बार कोरोना की नई गाइडलाइन जारी की है। जिसमें शहरी क्षेत्रों में सीनियर सेकेंडरी क्लास तक के सभी सरकारी व निजी स्कूल को आगामी 30 जनवरी तक बंद कर दिया गया है। शहरी क्षेत्रों में शादी विवाह में भी अधिकतम 50 लोगों को ही अनुमत किया गया है।

राजस्थान में जनवरी महीने में कोरोना पॉजिटिव केस आने की संख्या में भारी बढ़ोतरी हो रही है। यदि यही स्थिति रही तो आने वाले कुछ दिनों में ही राजस्थान में नए कोरोना पॉजिटिव की संख्या दूसरी लहर से भी अधिक हो जाएगी। अभी कोरोना को राज्य सरकार हल्के में ही ले रही है। इसी के चलते सामान्य गतिविधियां जारी है वह आम जनजीवन भी पूर्ववत संचालित हो रहा है।

जिस गति से नए कोरोना पॉजिटिव के केस आ रहे हैं। लगता है की उसकी भयानकता का सरकार अभी तक आकलन नहीं कर पाई है। कागजों में तो सरकार ने सख्ती से कोरोना गाइडलाइन की पालना के निर्देश जारी कर दिए हैं। मगर वास्तव में कोरोना गाइडलाइन की पालना बहुत कम हो रही है।

गांव में तो किसी को कोई कुछ कहने पूछने वाला ही नहीं है। शहरों में भी बड़ी संख्या में लोगों को बिना मास्क लगाए घूमते देखे जा सकते हैं। कोरोना को लेकर सरकार को यथाशीघ्र कड़े कदम उठाने चाहिए। ऐसे सभी सामुदायिक आयोजनों पर रोक लगा देनी चाहिए जहां 20 से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने की संभावना हो। सरकार को अस्पताल की स्थिति भी सुदृढ़ बनानी चाहिए। ताकि ऐसा ना हो कि पिछली बार की तरह वक्त पड़ने पर अस्पतालों में लोगों को उपचार ही ना मिल सके।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/