गुर्जर आरक्षण से छेडछाड हुई तो गुर्जर समाज करेगा आन्दोलन

gujar

 

  • मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत के नाम कलक्टर को दिया ज्ञापन,गुर्जर समाज ने दी चेतावनी

Tonk News / Dainik reporter (रोशन शर्मा ): विशेष अन्य पिछडा वर्ग में शामिल गुर्जरों (Gujars) सहित पांच अन्य जातियों के आरक्षण से छेडछाड किये जाने की संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए शुक्रवार को टोंक जिला गुर्जर समाज एवं गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति टोंक ने राज्य की कांग्रेस शासित सरकार को अल्टीमेटम दिया हैं। जिलाध्यक्ष रामलाल सण्डीला ने साफ शब्दों में कहा हैं कि गुर्जर आरक्षण (Gujar Reservation)से किसी भी कीमत में छेडछाड बर्दाश्त नही किया जाएगा।

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति टोंक एवं जिला गुर्जर समाज टोंक की ओर से शुक्रवार को गुर्जरों एवं अन्य पांच जातियों को विशेष अन्य पिछडा वर्ग के तहत दिये गए आरक्षण के संबंध में जिलाध्यक्ष रामलाल सण्डीला की अगुवाई में गुर्जरो ने मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत के नाम जिला कलक्टर टोंक को एक ज्ञापन दिया।

जिसमें लिखा हैं कि गुर्जर समाज सहित अन्य पांच जातियों को अन्य विशेष पिछडा वर्ग में 5 प्रतिशत आरक्षण दिया गया था यह 5 प्रतिशत आरक्षण 15 वर्षो के संघर्ष के बाद 73 गुर्जरों के बलिदान के बाद मिला है।

इस विशेष अन्य पिछडा आरक्षण में अब किसी अन्य जातियों को नही जोड़ा जावें क्योंकि इससे गुर्जर समाज में काफ ी आक्रोश है वहीं देवनारायण योजना को पुन: शुरू किये जाने की मांग की हैं।

जिलाध्यक्ष रामलाल सण्डीला ने बताया कि यदि गुर्जर आरक्षण सं छेडछाड की गई तो गुर्जर समाज अपने हकों के लिए सडक़ो पर आएगा। ज्ञापन देने वालों में धारासिंह गुर्जर,देवालाल,सुरेश गुर्जर,राहुल, रामअवतार धाभाई, जीतराम गुर्जर आदि शामिल थे।