ग्रामीण सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमा नही करें – के.के.शर्मा

Tonk News – टोंक जिला कलेक्टर के.के.शर्मा (Tonk District Collector KK Sharma) ने कहा कि ग्राम पंचायत में सार्वजनिक भूमि (public land),आम रास्ते,खेल मैदान, शमशान,कब्रिस्तान सभी लोगों के उपयोग के लिए होते है। ग्रामीण इन पर अतिक्रमण न करें। उन्होंने मंगलवार को देवली पंचायत समिति की ग्राम पचंायत देवडावास में जनसुनवाई के दौरान ग्रामीणों से समझाइश करते हुए यह बात कही।

जिला कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार की व्यक्तिगत लाभ की योजनाओं से पात्र व्यक्ति को लाभ पहुंचाने में कोताही न बरते। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों की व्यक्तिगत एवं सार्वजनिक समस्याओं की सुनवाई करते हुए संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिला कलेक्टर ने ग्रामीणों की चारागाह भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग पर तहसीलदार विनिता स्वामी को चारागाह भूमि से अतिक्रमण हटाने के निर्देष दिए। ग्रामीणों एवं महिला बाल विकास विभाग की महिला पर्यवेक्षक मंजुलता ने आमली आंगनबाडी केन्द्र की ओर जाने वाले बंद आम रास्ते को खुलवाने की गुहार लगाई। जिला कलेक्टर ने इसे गम्भीरता से लेते हुए तहसीलदार व पटवारी को 3 दिन में मौके देखकर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करने के निर्देष दिए।

ग्राम पंचायत में पदस्थापित महिला चिकित्सक अदिति अग्रवाल के लम्बे समय से ड्यूटी पर नहीं आने की शिकायत ग्रामीणों ने की। इस पर जिला कलेक्टर ने वस्तु स्थिति के बारे में सीएमएचओ अशोक यादव से जानकारी ली। सीएमएचओ ने बताया कि महिला डॉक्टर लम्बे समय से ड्यूटी पर नहीं आ रही है। जिला कलेक्टर ने सीएमएचओ से संबंधित डॉक्टर को चार्जषीट देने और एपीओ की कार्यवाही करने के लिए निर्देषित किया। साथ ही निकट की ग्राम पंचायत से सप्ताह में एक दिन वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए कहा।

अवैध बजरी खनन पर दूनी तहसीलदार,एसएचओ को सख्त कार्रवाई करने तथा उपखण्ड अधिकारी अशोक त्यागी को दो नाके और बढाने के निर्देष दिए। उन्होंने ग्राम सेवक से कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लक्ष्य पूरे करने और जिन भी ग्रामीणों ने घर के निर्माण के दौरान आरसीसी या पत्थर की पट्टियों के स्थान पर लोहे की चद्दर का प्रयोग किया है,उन्हें समझाइश कर हटवाने के निर्देष दिए। साथ ही कहा कि भौतिक सत्यापन की वजह से किसी भी लाभार्थी की पेंषन नहीं रूके इसकी सुनिश्चितता करें।

जिला कलेक्टर ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सामाजिक सुरक्षा अधिकारी विमलेष शर्मा से ग्राम पंचायत में पालनहार योजना के लाभ से कोई भी बालक छूटे नही,इसका ध्यान रखे। दृष्टि बाधित लाभार्थी रामलाल को भौतिक सत्यापन नही कराने के कारण एक वर्ष से पालनहार का लाभ नहीं मिलने पर जिला कलेक्टर ने सामाजिक सुरक्षा अधिकारी को शेष राशि मिले इसकी प्रक्रिया करने के लिए कहा ताकि गरीब व्यक्ति को राहत मिल सके। जिला कलेक्टर ने ग्रामीणों से कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना में तृतीय किष्त का भुगतान आधार सीडिंग होने पर किया जाएगा। इसलिए जागरूक होकर आधार सिडिंग का कार्य कराएं। ताकि किसानों को योजना का लाभ मिल सकें।

जनसुनवाई में जिला कलेक्टर को जिला परिषद सदस्य कुलदीप सिंह राजावत ने ग्राम पंचायत की मुुख्य मांगो से अवगत कराया तथा ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर को खाद्य सुरक्षा योजना,पशु चिकित्सालय खुलवाने, श्रम विभाग की योजना का लाभ दिलवाने, उप स्वास्थ्य केन्द्र का नवीन भवन बनवाने आदि समस्याओं के बारे में बताया। जिला कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

जनसुनवाई में मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवनीत कुमार, सरपंच पुष्पा देवी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं ग्रामीण जन उपस्थित थे।

टोंक जिला कलेक्टर ने किया अमरूद उत्कृष्टता केन्द्र का अवलोकन

जिला कलेक्टर के.के.शर्मा ने जन सुनवाई के पश्चात देवडावास में उद्यान विभाग के राजहंस नर्सरी में अमरूद उत्कृष्टता केन्द्र का अवलोकन किया। उन्होंने अमरूद उत्कृष्टता केन्द्र में किए जा रहे कार्यो की सराहना की। इस दौरान केन्द्र के उप निदेशक ओ.पी. यादव ने अमरूद उत्पादन की वैज्ञानिक तरीके से खेती के बारे में नर्सरी में किए जा रहे नवाचारों के बारें में बताया। उन्होनें अमरूद खेती में अपनाई जा रही इनार्चिंग, गूटी, वैज ग्राफ्टिंग,स्टूलिंग आदि विधियों के बारें में विस्तार से बताया। नर्संरी में विभिन्न प्रजातियों के गुलाब, जैतून, नीबू में किए जा रहे नवाचारों के बारे में भी बताया।